बिहार: डोर टू डोर कोरोना जांच को RJD ने सराहा, शिवानंद तिवारी बोले...

बिहार के 4 जिले- सीवान, बेगूसराय, नवादा और नालंदा में घर-घर जाकर संदिग्धों की जांच आज से शुरु कर दी गई है. यह प्रक्रिया दो चरणों में अगले आठ दिनों में संपन्न कराई जाएगी.  

बिहार: डोर टू डोर कोरोना जांच को RJD ने सराहा, शिवानंद तिवारी बोले...
शिवानंद तिवारी ने सरकार के काम की तारीफ की. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के आदेश के बाद कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर राज्य के चार जिलों में गुरुवार से डोर टू डोर (Door to Door) स्क्रीनिंग शुरू हो गई. इसको लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष ने सरकार के काम की सरहाना की है और कहा है कि बिहार जल्द ही कोरोना मुक्त होगा.

दरअसल, बिहार के 4 जिले- सीवान, बेगूसराय, नवादा और नालंदा में घर-घर जाकर संदिग्धों की जांच आज से शुरु कर दी गई है. यह प्रक्रिया दो चरणों में अगले आठ दिनों में संपन्न कराई जाएगी. बता दें कि बिहार पहला ऐसा राज्य है. जहां घर-घर जाकर कोरोना संदिग्धों की जांच की जा रही है.

वहीं, सरकार के इस कदम को पक्ष-विपक्ष के नेता सही बता रहे हैं. आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानन्द तिवारी ने कहा है कि  अच्छी बात है और अच्छा काम है. शिवानंद तिवारी ने कहा है कि यह चार जिले ऐसे हैं, जहां ज्यादा कोरोना वायरस के शिकार मिले हैं. डोर टू डोर करना अच्छी बात है, बिहार में टेस्टिंग का काम कम हुआ है. इसी कारण वायरस के शिकार लोगों की संख्या कम है. अगर संभव हो तो हर घर में जांच होनी चाहिए.

वहीं, जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि चार जिलों में संक्रमण रोकने के लिए राज्य सरकार डोर टू डोर रणनीति पर काम कर रही है. इन जिलों में ज्यादा केस कोरोना के हैं और डोर टू डोर सर्वेक्षण से सभी चीजें स्पष्ट हो जाएंगी.

इधर, बिहार सरकार के मंत्री विजय सिन्हा ने कहा कि यह जरूरी है. लोगों से अपील है कि लोग इसमें सहयोग करें. क्योंकि सरकार जनता यह काम जनता के हित में कर रही है.