close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोदी कैबिनेट में JDU के शामिल नहीं होने के फैसले पर RJD बोली- अपमान कर रही है BJP

जेडीयू के मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने के फैसले पर बिहार में राजनीति तेज हो गई है. आरजेडी अब नीतीश कुमार के फैसले का समर्थन कर रही है. और बीजपी पर निशाना साध रही है.  

मोदी कैबिनेट में JDU के शामिल नहीं होने के फैसले पर RJD बोली- अपमान कर रही है BJP
नीतीश कुमार ने बीजेपी के प्रस्ताव को नहीं माना है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरा कार्यकाल के लिए पीएम पद की शपथ ले ली है. साथ ही मंत्रिमंडल के लिए मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण किया. लेकिन शपथ ग्रहण से तुरंत पहले खबर आई की जेडीयू अपनी ओर से किसी को भी मंत्री पद के लिए शपथ नहीं लेने देगा. जेडीयू ने मंत्री पद लेने से इनकार कर दिया. नीतीश कुमार ने खुद कहा कि उनकी पार्टी को मंत्री पद नहीं चाहिए.

नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि बीजेपी ने मंत्री पद के लिए जो प्रस्ताव दिया उस हिसाब से पार्टी ने फैसला किया है कि वह मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होंगे. वहीं, अब इस फैसले पर बिहार में राजनीति तेज हो गई है. आरजेडी अब नीतीश कुमार के फैसले का समर्थन कर रही है. और बीजपी पर निशाना साध रही है.

आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि नीतीश कुमार ने बिल्कुल ठीक किया. उन्होंने कहा निश्चित तौर पर जेडीयू से दो पद के लिए बात हुई होगी लेकिन अंतिम समय में एक पद देने की बात हुई होगी. नीतीश कुमार ने जिस तरह से इनकार किया है उससे यह बातें साफ है. वरना वह मंत्री पद के लिए इनकार नहीं करते.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि बीजेपी जेडीयू का अपमान कर रही है. बीजेपी को मिली प्रचंड बहुमत अब उनके ऊपर सवार हो गई है. इसलिए वह इस तरह से कर रहे हैं. उनका गठबंधन के प्रति क्या रवैया यह दिख रहा है. 

गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने कहा है कि बीजेपी की ओर से कहा गया था कि उनके जो गठबंधन दल हैं उन्हें एक-एक मंत्री पद दिए जाएंगे. यह सिंबॉलिक रिप्रजेंटेशन के तौर पर होगा. इस तरह के प्रस्ताव पर हमने पार्टी की मीटिंग कर बात की. जिसमें फैसला लिया गया कि यह प्रस्ताव मंजूर नहीं होगा. हमें सिंबॉलिक रिप्रजेंटेशन बनने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि सरकार में ऐसे शामिल होने की जरूरत नहीं है. हमें सरकार में शामिल होने की कोई दिलचस्पी नहीं है. हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा कि हम बिहार में साथ है और सरकार के कामों में साथ हैं. हमें मंत्री पद को लेकर किसी तरह की नाराजगी नहीं है. इसलिए हम गठबंधन में साथ है, लेकिन मंत्री पद में जाने की दिलचस्पी नहीं है.

नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी बात इस बारे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी हो गई है. जब उन्होंने इस तरह का प्रस्ताव दिया तो हमने कहा कि इसके लिए पार्टी से बात करनी होगी. और पार्टी के फैसले के साथ अमित शाह को भी इसकी जानकारी दे दी गई है.