बिहार: आरक्षण को लेकर RJD ने बनाई समिति, कहा-किसी भी तरह की छेड़छाड़ बर्दाशत नहीं होगी

आरजेडी ने आरोप लगाया है कि, नरेंद्र मोदी और रामविलास पासवान जैसे नेताओं ने मिलकर आरक्षण की व्यवस्था ही खत्म करने की कोशिश की है.

बिहार: आरक्षण को लेकर RJD ने बनाई समिति, कहा-किसी भी तरह की छेड़छाड़ बर्दाशत नहीं होगी
आरजेडी ने कहा है कि, आरक्षण का आधार सामाजिक है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आरक्षण (Reservation) को लेकर तमाम राजनीतिक दल अपने अपने हिसाब से राजनीति करने लगे हैं. आरजेडी (RJD) के एससी (SC) और एसटी (ST) विधायकों ने एक नई समिति का गठन किया है, जिसे 'एससी-एसटी विधानमंडल आरक्षण बचाओ समिति' नाम दिया गया है.

इसकी घोषणा शुक्रवार को आरजेडी विधायक और पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने की. हालांकि, इस समिति में कितने सदस्य होंगे, कौन इस समिति का अध्यक्ष होगा, अभी इस बात पर फैसला नहीं हो पाया है. वहीं, केंद्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए आरजेडी ने कहा है कि, आरक्षण का आधार सामाजिक है और समाज में दलितों को बराबरी का स्थान हासिल हो सके, इसलिए इसकी व्यवस्था की गई है.

आरजेडी ने आरोप लगाया है कि, नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और रामविलास पासवान जैसे नेताओं ने मिलकर आरक्षण की व्यवस्था ही खत्म करने की कोशिश की है. शिवचंद्र राम ने कहा है कि, बैकलॉग को सरकार ने खत्म कर दिया है. प्रोमोक्षण में आरक्षण भी खत्म किया गया है. जो भी आरक्षण राज्य सरकार ने खत्म किया है, उसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) दोबारा बहाल करें.

हालांकि, आरक्षण की इस लड़ाई में आरजेडी अपने सहयोगी दलों पर बढ़त लेने की कोशिश कर रहा है. दूसरी ओर उसने ये भी साफ किया है कि, आरक्षण को बचाने के लिए होने वाली इस लड़ाई में जेडीयू, एलजेपी और बीजेपी के किसी भी सदस्यों का समर्थन नहीं लिया जाएगा.