close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड में आरजेडी पार्टी में टूट, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कर सकते हैं नई पार्टी का ऐलान

झारखंड में चुनाव परिणाम आते ही गौतम सागर राणा को हटाकर कर अभय सिंह को आरजेडी का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया.

झारखंड में आरजेडी पार्टी में टूट, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कर सकते हैं नई पार्टी का ऐलान
झारखंड में आरजेडी पार्टी में टूट हो गई है. (प्रतीकात्मक फोटो)

रांचीः झारखंड में लोकसभा चुनाव के परिणाम से आजेडी में मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. लोकसभा चुनाव के दौरान ही आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी आरजेडी छोर कर बीजेपी में शामिल हो गयी थी और उस वक्त आनन फानन में फिर से एक बार गौतम सागर राणा को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया था. लेकिन चुनाव परिणाम आते ही गौतम सागर राणा को हटाकर कर अभय सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया.

ऐसे में गौतम सागर राणा के गुट ने 21 जुन तक पुनर्विचार करने का समय दिया था. लेकिन कार्यवाई नहीं किये जाने के बाद झारखंड में राष्ट्रीय जनता दल का टूटना अब धीरे-धीरे तय माना जा रहा है. रविवार को विधानसभा सभागार में कल राज्य कार्यकारिणी की बैठक बुलाया है. अब गौतम सागर राणा की ओर से कल नए पार्टी या संगठन बनाने का ऐलान किया जा सकता है.

गौतम सागर राणा ने लालू यादव पर सवाल खरे करते हुए कहा कि लालू यादव आखिर कौन से कारण से मजबूर हैं. यह हम नहीं जानते हम सभी जगह गए लेकिन किसी ने मेरी बात नही सुनी. साथ ही नए प्रदेश अध्यक्ष अभय सिंह को हटाने को लेकर राष्ट्रीय नेतृत्व किसी तरह का विचार करते नजर नहीं आ रही है. जिसको लेकर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गौतम सागर राणा का गुट राष्ट्रीय जनता दल पार्टी से अलग होकर एक अपनी अलग पार्टी बनाने या फिर विपक्षी दलों में शामिल होने का संकेत दे दिया है.

23 जून को गौतम सागर राणा का गुट एक नई राजनीति की घोषणा कर सकती है. गौतम सागर राणा ने यह भी कहा कि लालू यादव के साथ हम 40 वर्षों से हैं. लेकिन लालू अब बदल गए, हम उस लालू को ढूंढ रहे हैं जो पहले थे.

वर्तमान आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष अभय सिंह ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि आरजेडी अटूट है, पार्टी अपनी स्थिति को और मजबूत करने में जुटी है. उन्होंने कहा गौतम सागर राणा का तो वो अपने कुछ लोगों के सहारे अपने पॉकेट से पार्टी चलाना चाहते है जो कि बिल्कुल गलत है. उन्होंने कहा उनके पार्टी से चले जाने से आरजेडी के सेहत पर कोई फर्क नही पड़ता.

बहरहाल, अब सब की निगाहें कल होने वाली गौतम सागर राणा के गुट की बैठक पर टिकी है. जिसमें देखना है कि वह क्या निर्णय लेते हैं.