Population control पर कानून को लेकर बिहार में बवाल, JDU-BJP के अलग बयानों पर RJD ने ली चुटकी

JDU और BJP के बयान में भिन्नता पर उन्होंने कहा कि दोनों में काफी फर्क है. एक कड़े कानून की बात कर रहे हैं दूसरा, लोगों की जागरूक करने की बात कर रहे हैं. जनता के बीच जन जागरण करना पड़ेगा.

Population control पर कानून को लेकर बिहार में बवाल, JDU-BJP के अलग बयानों पर RJD ने ली चुटकी
Population control कानून को लेकर बिहार में बवाल, NDA में दो फाड़ पर RJD ने ली चुटकी.

Patna: देश में जनसख्या नियंत्रण पर बहस छिड़ी है. JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आज बयान दिया है कि देश की बढ़ती जनसंख्या को रोकने में सब का दायित्व बनता है. आबादी इतनी न हो जाए कि पृथ्वी कराहने लगे. कड़े कानून पर उन्होंने कहा कि इसे कानून के नजरिए से नहीं देखना होगा. समाजिक, स्वास्थ्य नजरिए से देखना होगा. हर व्यक्ति को खुद से देखना होगा कि वे कितने बच्चे रखें. यह समस्या गम्भीर है. सबको सहयोग करने की जरूरत है.

इधर, जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population Control) पर कांग्रेस विधायक शकील अहमद खान ने कहा कि भाजपा केवल विभाजन की राजनीति करती है. वह समाज में ऐसे मुद्दे को ही उठाती है जिससे विभाजन पैदा हो. उन्होंने साथ ही कहा कि जो समाज पढ़ा-लिखा हो जाता है वह खुद-ब-खुद जनसंख्या नियंत्रण के बारे में सोचने लगता है. जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने से अच्छा है लोगों को शिक्षित किया जाए.   भारतीय जनता पार्टी इन्हीं सब तरह के मुद्दों से सत्ता में आती है.

यह भी पढ़ें;- Bihar: जनसंख्या वृद्धि पर AIMIM MLA के बिगड़े बोल, कहा-'ये मर्दानगी का काम जिसमें दम है वो बढ़ाए'

कांग्रेस के दूसरे नेता और महिला विधायक नीतू सिंह (Nitu Singh)ने कहा कि BJP जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) के बयान से हमेशा एक जमात को टारगेट करती रही है, लेकिन यह मसला लोगों की शिक्षा, स्वास्थ्य,आर्थिक और मानसिक सोच पर निर्भर है. पढ़ा लिखा इंसान जनसंख्या कन्ट्रोल करता है. दलितों की बस्ती में भी जनसख्या कन्ट्रोल है क्योंकि वहां शिक्षा का स्तर कम है. नीतू सिंह ने कहीं की बीजेपी जनसंख्या कन्ट्रोल के बहाने सियासत कर रही है.

JDU अध्यक्ष RCP सिंह की बात से इत्तेफाक रखते हुए RJD प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा कि कुछ मामलों में आरसीपी सिंह ने बातें सही कही है. वे राजनीति में नए नए आए हैं वे तो इस तरह के बयान ही देंगे. उन्हें भी बताना चाहिए कि उनके कितने बच्चे हैं. रही बात कानून की तो इस तरह का कानून निराधार है. सरकार को सबसे पहले सर्वदलीय बैठक बुलाना चाहिए और उस पर विचार होना चाहिए कि जनसंख्या नियंत्रण पर क्या करना चाहिए. 

आगे RJD नेता ने कहा कि BJP का सिर्फ एक ही एजेंडा है कि एक संप्रदाय को खिलाफ बोले. इनकी मनसा ठीक नहीं है. बीजेपी समाज को, देश को तोड़ने के लिए बयान दे रही है. BJP सर्वदलीय बैठक बुलाए. उस बैठक में तय करें कि क्या करना है और क्या ना करना है. पर, उन्हें तो कुछ करना है नहीं.

यह भी पढ़ें;- AIMIM MLA अख्तरुल ईमान हैं कि मानते नहीं? जनसंख्या वृद्धि को लेकर फिर दिया विवादित बयान

JDU नेता और पूर्व मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि रामचंद्र प्रसाद सिंह ने जो बातें कही है वह बिल्कुल सही बात है. छोटा परिवार सुखी परिवार होता है. वक्त बदल गया है सोच बदल गया है. जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) होना चाहिए. उन्होंने जो बात कहीं वह सही है.

JDU के ही पूर्व मंत्री और नेता रंजू गीता ने कहा है कि यह बहुत अच्छी बात है. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जो कहा है वह सही बात कही है. यह बहुत अच्छी बात है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) एसे ही चाहते आ रहे हैं कि हमें समाजिक बदलाव लाना है.  भ्रूण हत्या को रोकना है. जब तक ह्यूमन नेचर (Human Nature) नहीं बदलेगा तब तक कोई इंसान काम नहीं कर सकता. सबसे पहले लोगों की मानसिकता बदलनी होगी.जदयू पूरे देश में एक ऐसी पार्टी है जो सामाजिक बदलाव के लिए काम कर रही है.

AIMIM नेता अख्तरुल इमान ने कहा है कि हर लोग से पहले सरकार को सोचना होगा कि जनसंख्या क्यों बढ़ रही है. जनसंख्या बढ़ने की एकमात्र वजह है वह अशिक्षा और गरीबी. किसी भी कानून से इस मसले का हल नहीं हो सकता.  दहेज प्रथा और शराबबंदी के खिलाफ कानून बने हुए हैं. लेकिन, क्या हालत है. जब तक गरीबी दूर नहीं होती, तब तक कोई भी काम में हो सकती हैं. दलित  और अल्पसंख्यक की फैमिली की जनसंख्या यदि बढ़ रही है तो यह सरकार को सोचना चाहिए कि आखिर क्यों बढ़ रही है.

BJP जनसंख्या नियंत्रण के लिए कड़े कानून की पक्षधर दिख रही है. बीजेपी के नेता ललन पासवान ने कहा कि जब तक कड़े कानून नहीं लागू होंगे तब तक जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) नहीं हो सकता. यूरोप के देशों के देखिए वहां पर जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून है. तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population Control law) से भागते हैं. हिंदुस्तान और बिहार के अंदर बिना कठोर के कोई बदलाव नहीं हो सकता. लोगों का हृदय परिवर्तन खुद ब खुद नहीं हो सकता. मैं तो ये कहता हूं कि आज ही कठोर कानून लागू हो.

RJD नेता राकेश रोशन ने कहा कि JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष की बात बिल्कुल सही है. हर पार्टी के नेताओं को सर्वदलीय बैठक बुलाकर यह तय करना होगा कि जनसंख्या नियंत्रण (Population Control) के लिए क्या किया जा सकता है. जनसंख्या रोकने पर किसी की कोई आपत्ति नहीं है. कानून बनाकर जनसंख्या रोका नहीं जा सकता. बिहार में शराबबंदी कानून लागू है. लेकिन  जनजागृति के बिना कानून काम नहीं करता. किसी परंपरा को तोड़ना है तो उसके लिए अभियान चलना पड़ेगा. 

JDU और BJP के बयान में भिन्नता पर उन्होंने कहा कि दोनों में काफी फर्क है. एक कड़े कानून की बात कर रहे हैं दूसरा, लोगों की जागरूक करने की बात कर रहे हैं. जनता के बीच जन जागरण करना पड़ेगा.