close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RJD ने आजम खान मामले को लेकर BJP पर साधा निशाना- 'क्या राबड़ी देवी से सुशील मोदी माफी मांगेंगे'

 बिहार में जेडीयू ,बीजेपी, कांग्रेस जैसी पार्टी ने भी आजम खान के बयान की निंदा की लेकिन आरजेडी ने आजम खान मामले में दूसरा स्टैंड लिया है. 

 RJD ने आजम खान मामले को लेकर BJP पर साधा निशाना- 'क्या राबड़ी देवी से सुशील मोदी माफी मांगेंगे'
बिहार में आजम खान मामले में आरजेडी ने बीजेपी पर निशाना साधा है.

पटना: उत्तर प्रदेश के रामपुर से सांसद और सपा नेता आजम खान पर चौतरफा कार्रवाई की मांग हो रही है. बिहार में जेडीयू ,बीजेपी, कांग्रेस जैसी पार्टी ने भी आजम खान के बयान की निंदा की लेकिन आरजेडी ने आजम खान मामले में दूसरा स्टैंड लिया है. पार्टी ने कहा है कि आजम खान के साथ उन नेताओं पर भी कार्रवाई हो जिसने सोनिया गांधी और राबड़ी देवी के खिलाफ कभी आपत्तिजनक बयान दिए थे.

ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि क्या आरजेडी अब राबड़ी देवी के बहाने भारतीय जनता पार्टी पर बदसलूकी मामले को हथियार के तौर पर इस्तेमाल की तैयारी में है. समाजवादी पार्टी के नेता और अपने बड़बोले बयान के लिए मशहूर आजम खान ने जो टिप्पणी सांसद रमा देवी पर की उसके लिए वो हर तरफ से आलोचना के शिकार हो रहे हैं. अगर वो माफी नहीं मांगेंगे तो कार्रवाई भी होगी लेकिन बिहार में आजम खान के लिए सहानुभूति पैदा होने लगी है.

पहले जीतनराम मांझी और अब आरजेडी के नेता और पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने भी एक तरह से आजम खान की पैरवी की है. शिवचंद्र राम ने कहा है कि, उन्होंने आजम खान के बयान को सुना है और पढ़ा है. लोकसभा में कार्यवाही के दौरान उन्होंने रमा देवी के लिए बहन शब्द का भी इस्तेमाल किया था लेकिन बीजेपी नेताओं को बहन वाले शब्द नहीं सुनाई दिए. 

बीजेपी नेता औऱ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए शिवचंद्र राम ने कहा है कि, आजम खान के बयान पर बवंडर है, उनकी निंदा होनी चाहिए लेकिन क्या सुशील मोदी पर कार्रवाई होगी. बतौर शिवचंद्र राम जब राबड़ी देवी बिहार की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं थी तो उस वक्त सुशील मोदी ने उन्हें अनपढ़ और गोबर ठोकने वाली महिला बताया था. तब क्या सुशील मोदी ने माफी मांगी थी.

क्या सुशील मोदी पर कार्रवाई हुई थी.आरजेडी को आजम खान के साथ ही सुशील मोदी पर भी कार्रवाई का इंतजार है. शिवचंद्र राम यहीं नहीं रूकें, उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी के लिए बीजेपी के नेताओं ने किस तरह की टिप्पणी की थी. उन्हें विदेशी महिला बताया था तब क्या बीजेपी नेताओं पर कार्रवाई हुई थी. बीजेपी नेता इस पर क्यों नहीं कुछ बोलते हैं.

हालांकि जनता दल यूनाइटेड अपने स्टैंड पर कायम है. पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन के मुताबिक,आजम खान यूपी की सियासत में बड़े नेता हैं लेकिन शब्दों की मर्यादा का हर हाल में ख्याल रखा जाना चाहिए.लोकसभा एक महान जगह होती है. यहां आपको अपनी गरिमा और मर्यादा का परिचय देना होता है. रमा देवी का लंबा राजनीतिक गौरवशाली इतिहास है. और आजम खान की टिप्पणी किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं की जा सकती है.

आजम खान की टिप्पणी पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला क्या फैसला लेते हैं इसका इंतजार तो सबको रहेगा लेकिन जिस तरह से बिहार में पहले मांझी और फिर आरजेडी के बड़े नेता शिवचंद्र राम ने बयान दिया है उसके अलग राजनीतिक अर्थ है.ऐसा लगता है राबड़ी देवी का नाम लेकर आरजेडी भी बदजुबानी को सियासी हथियार बनाएगी.