close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनंत सिंह के घर पुलिस ने चिपकाया नोटिस, RJD बोली- सरकार कर रही बदले की राजनीति

आरजेडी के आरोप पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने पलटवार किया है. बीजेपी नेता निखिल आनंद ने कहा कि आरजेडी अनंत सिंह के समर्थन में खड़ी है. 

अनंत सिंह के घर पुलिस ने चिपकाया नोटिस, RJD बोली- सरकार कर रही बदले की राजनीति
अनंत सिंह के घर पुलिस ने चिपकाया नोटिस.

पटना : सुपारी किलर के साथ बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद अनंत सिंह की मुसीबत बढ़ गई है. मोकामा विधायक अनंत सिंह के सरकारी आवास पर पंडारक थाने की पुलिस ने नोटिस चिपकाया है. नोटिस में एक अगस्त को 11 बजे पुलिस मुख्यालय स्थित एफएसएल (FSL) की टीम के सामने हाजिर होने का निर्देश दिया है. अनंत सिंह को वॉयस टेस्ट के लिए हाजिर होना होगा. पुलिस ने कोर्ट से ऑर्डर लिया है.

इस पूरे मामले पर राजनीति भी तेज है. बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अनंत सिंह के समर्थन में खड़ी दिख रही है. आरजेडी नेता सुबोध राय ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने नीतीश सरकार पर बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया है.

साथ ही आरजेडी नेता ने कहा कि वॉयस सैम्पल से पहले अपराधी का नारको टेस्ट कराया जाए. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) नेता नीरज कुमार ने अनंत सिंह को ठीक कर देने की बात कही थी. होम्योपैथी की दवा देनी की बात कही थी.

आरजेडी के आरोप पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने पलटवार किया है. बीजेपी नेता निखिल आनंद ने कहा कि आरजेडी अनंत सिंह के समर्थन में खड़ी है. आरजेडी की यह पुरानी प्रवृति रही है. अपराधियो का समर्थन करती है.

ज्ञात हो कि 14 जुलाई 2019 को पंडारक थाना क्षेत्र के एसबीआई बैंक के पास ग्रामीणों ने तीन की संख्या में आए अपराधी को पकड़ कर बेरहमी से पिटाई कर दी. उसे गंभीर हालत में पुलिस के हवाले किया गया. पुलिस ने जब पूछताछ की तो पता चला कि तीनों अपराधी अनंत सिंह मोकामा विधायक के द्वारा जहानाबाद के विकास सिंह के कहने पर भेजा गया है.

पुलिस तीनों अपराधी का बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल में इलाज कराने के बाद पटना लेकर गई. उसे बाढ़ अनुमंडलीय उप कारा भेज दिया गया. आरोप है कि पटना से आए तीनों शातिर अपराधी सुपारी किलर थे, जिन्हें बाहुबली अनंत सिंह ने अपने धुर विरोधी पंडारक निवासी भोला सिंह और मुकेश सिंह की हत्या करने के लिए भेजा था. उसके गतिविधियों की जानकारी भोला सिंह के लोगों को लग गई, जिसके कारण भोला सिंह की जान बच गई. तीनों अपराधी एक विदेशी और दो देसी कट्टे के साथ गिरफ्तार किए गए.

लाइव टीवी देखें-: