प्रवासी श्रमिकों को लेकर RJD का नीतीश सरकार पर हमला, तो BJP-JDU बोली...

भाई वीरेंद्र ने कहा है कि, सरकार दो तरह के नियम के तहत काम कर रही है. बड़े लोगों को प्लेन से बुला रही है सरकार और श्रमिकों को पैदल घर जाने के लिए छोड़ दिया गया.

प्रवासी श्रमिकों को लेकर RJD का नीतीश सरकार पर हमला, तो BJP-JDU बोली...
प्रवासी श्रमिकों को लेकर चलाए गए अभियान पर राजनीति शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

पटना: आरजेडी की ओर से प्रवासी श्रमिकों को लेकर चलाए गए अभियान पर राजनीति शुरू हो गई है. एक तरफ आरजेडी के समर्थन में जहां कांग्रेस यह कहते हुए आ गई है कि, सरकार बड़े लोगों के लिए अलग और श्रमिकों के लिए अलग नीति अपना रही है. तो वहीं, जेडीयू और बीजेपी ने इन आरोपों को सिरें से खारिज कर दिया है. बीजेपी-जेडीयू ने पलटवार करते हुए कहा है कि, बड़े लोगों में तो तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) भी शामिल हैं, वो कैसे दिल्ली से पटना आए, इसका खुलासा आरजेडी को करना चाहिए.

दरअसल, कोरोना काल में जब प्रवासी श्रमिकों से लेकर तमाम तरह की परेशानियों से सरकार जूझ रही है, तब विपक्ष ने भी उसके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. विपक्ष की ओर से सियासी बयानबाजी खूब की जा रही है. ताजा मामला, प्रवासी श्रमिकों की वापसी को लेकर है, जिसको लेकर नेता विरोधी दल तेजस्वी यादव ने सरकार की नीतियों पर हमला बोला है और इस पर आरजेडी को कांग्रेस का भी समर्थन मिल रहा है.

RJD का नीतीश सरकार पर हमला
आरजेडी ने प्रवासी श्रमिकों को लेकर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार पर निशाना साधा है. आरजेडी प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि, सरकार दो तरह के नियम के तहत काम कर रही है. बड़े लोगों को प्लेन से बुला रही है सरकार और श्रमिकों को पैदल घर जाने के लिए छोड़ दिया गया.

RJD के समर्थन में आई कांग्रेस
वहीं, कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने भी आरजेडी के बयान का समर्थन किया है. प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि, सरकार सिर्फ पैसेवालों की मदद कर रही है और प्रवासी श्रमिकों पर पाबंदी लगाई जा रही है. उन्होंने कहा कि, क्वारेंटाइन सेंटर को लेकर अधिकारी बयान दे रहे हैं. जहां हंगामा हुआ, वहां चिन्हित लोगों को सरकारी सहायता नहीं दी जा रही है.

'सरकार की एक नीति'
इधर, आरजेडी और कांग्रेस ने प्रवासी श्रमिकों को लेकर मोर्चा खोला, तो मैदान में आने में सत्ताधारी दल जेडीयू और बीजेपी ने भी देर नहीं लगाई. बीजेपी ने जातिवादी राजनीति को लेकर आरजेडी पर निशाना साधा, तो जेडीयू ने तेजस्वी पर वार किया. आरजेडी के बयान को बीजेपी नेता और मंत्री विनोद नारायण झा ने खारिज करते हुए कहा कि, सरकार की एक नीति है, दोहरी नीति नहीं है.

'RJD जातिवादी पार्टी'
उन्होंने कहा कि, आरजेडी जातिवादी पार्टी है, इसलिए आरोप लगा रही है, जिसके पास कोई काम नहीं, वो सिर्फ आरोप लगा रहा है. मंत्री ने कहा कि, अब पैदल आनेवाले श्रमिकों के लिए बस चलाई जा रही है. वहीं, जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि, बड़े लोगों में तो तेजस्वी यादव भी शामिल हैं. तेजस्वी यादव दिल्ली से बिहार कैसे आए, यह नहीं बताया. उन्होंने कहा कि, आरजेडी ऐसे मुद्दे उठती है, जिससे हास्य का शिकार होती है. सात समुंदर पार से लोगों को क्या बसों और पैदल लाया जा सकता है.