CAA-NRC के विरोध में समाप्त हुआ RJD का बिहार बंद, ADG बोले- नहीं हुई कोई बड़ी घटना

बिहार बंद से पहले तेजस्वी यादव ने CM नीतीश को दी चेतावनी, हानि पहुंचाने की कोशिश की तो अंजाम भुगतने को तैयार रहें.

CAA-NRC के विरोध में समाप्त हुआ RJD का बिहार बंद, ADG बोले- नहीं हुई कोई बड़ी घटना
बिहार बंद के दौरान कई जगह हंगामा हुआ.

पटना: नागरिकता कानून (CAA) और NRC के विरोध में बिहार की तमाम सियासी पार्टियों ने बंद की राजनीति शुरू कर दी है. 19 दिसंबर को वाम दल सहित कई पार्टियों ने बंद का आह्वान किया था तो अब बारी तेजस्वी यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की है, जिसने आज (21 दिसंबर) को बिहार बंद का आह्वान किया है.

बंद के पहले तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत प्रशासन को स्पष्ट चेतावनी दी है कि अगर आरजेडी के बंद पर सरकार की तरफ से किसी ने भी हानि पहुंचाने की कोशिश की तो अंजाम भुगतने को तैयार रहें. 

दरभंगा में आरजेडी कार्यकर्ता सुबह ही सड़क पर उतर आए

तेजस्वी यादव ने कहा कि लोकतंत्र में कोई भी राजनीतिक पार्टी हो या आम लोग, विरोध करने का सबको अधिकार है. अब ये प्रशासन और शासन में बैठे लोगों को तय करना है कि वो कैसे मैनेज करें. तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की हालत सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को वाली हो गई है.

यह भी पढ़ें- यूपी: CAA के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शन में 1 और मौत, मरने वालों का आंकड़ा 8 पहुंचा

जहानाबाद
एनआरसी और सीएए के खिलाफ राजद कार्यकर्ता उतरे सड़क पर,बिहार बंद के दौरान काको मोड़ के समीप एनएच-83 एवं एनएच -110 को किया जाम, सरकार के खिलाफ कर रहे है नारेबाजी,वाहनों की लगी लंबी कतार.

वैशाली
CAA & NRC के विरोध में राजद का बिहार बन्द, राजद कार्यकर्ताओ ने जगह जगह किया आगजनी और सड़क जाम, हाजीपुर पटना गांधी सेतु रोड पर कई जगह किया जाम, उत्तर बिहार से दक्षिण बिहार का आवागमन ठप, अहले सुवह से ही जाम जारी.

pic

बाढ़ में केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ चक्का जाम
बाढ़ थाना क्षेत्र के NH-31 हाईवे के समीप अहले सुबह से ही बिहार बंद का असर दिखने लगा है राजद की महिला नेत्री अपने दल बल के साथ कड़ाके की ठंड में भी सड़क पर सरकार के विरोध में मोर्चा संभाल ली है और पहले सुबह से ही बाढ़ में विरोध का दौर शुरू हो गया है.

मुंगेर में आरजेडी विधायक का हंगामा
सीएबी और एनआरसी बिल के विरोध में मुंगेर आरजेडी विधायक विजय कुमार विजय ने अपने समर्थको के साथ मुंगेर स्टेशन पहुंचकर मुंगेर-खगड़िया डीएमयू ट्रेन को रोका और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

वीआईपी के कार्यकर्ता भी सड़क पर

आरजेडी को बिहार बंद में महागठबंधन का समर्थन  मिला है और साथ ही वीआईपी के कार्यकर्ता भी सड़क पर हंगामा और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. वीआईपी (विकासशील इंसान पार्टी) पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बिहार बंद के दौरान पुलिस बैरिकेड को तोड़ दिया और एनआरसी के खिलाफ जमकर हंगामा किया. 

आरएलएसपी-वीआईपी-आरजेडी के कार्यकर्ता कर रहे हंगामा
वीआईपी के अलावा आरएलएसपी के कार्यकर्ता भी आरजेडी के समर्थन में सड़कों पर उतर गए हैं. पटना का दिल कहे जाने वाले डाक बंगला चौराहा पर हंगामा कर रहे हैं. कई जगहों पर कार्यकर्ता हंगामा, तो़ड़फोड़ कर रहे हैं.

बीजेपी बोली- खास समुदाय को भड़काया जा रहा
बिहार सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता विजय कुमार सिन्हा ने आरजेडी के बिहार बंद पर कहा है कि विपक्ष खास समुदाय को भड़का कर राजनीति कर रहा है. बंद के नाम पर आगजनी और उपद्रव कर रहा है जो दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि सभी लोग फिर से बिहार में जंगलराज लाना चाहते हैं. 

लगा दो किलोमीटर लंबा जाम
आरजेडी समर्थकों ने पटना-आरा राष्ट्रीय राजमार्ग को कई जगहों पर आगजनी करते हुए जाम कर दिया जिससे 2 किलोमीटर तक गाड़ियों की लंबी कतार लगी रही. लोग कैब और एनआरसी बिल को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. वहीं, लालू प्रसाद यादव को जेल से रिहा के लिए भी लोगों ने जमकर नारेबाजी किया. हालांकि इस जाम से आम जनजीवन प्रभावित है. स्कूली बच्चे समेत कई यात्री जाम में फंसे पड़े हैं जिन्हें जाने नहीं दिया जा रहा है.

 

बच्चों का लिया सहारा
बिहार के औरंगाबाद में आरजेडी ने बंद को सफल बनाने का शर्मनाक तरीका अपनाया. दरअसल औरंगाबाद में आरजेडी ने बिहार बंद को सफल बनाने के लिए बच्चों का इस्तेमाल किया. जिन मासूम बच्चों को स्कूल में होना चाहिए था उनके हाथों में समर्थकों ने झंडा और तख्ती थमा दिया और जोर-जोर से नारे लगाने की जिम्मेदारी भी दे दी. राजनीति के लिए आरजेडी के इस कदम को गलत ठहराया जा रहा है. 

तेजस्वी यादव पहुंचे डाकबंगला
तेजस्वी यादव आरजेडी के बिहार बंद को सफल बनाने के लिए तेजस्वी यादव डाकबंगला चौक पहुंचे. तेजस्वी के साथ हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद हैं. साथ ही मौके पर पुलिस  बल की भी भारी संख्या में तैनाती की गई है.

मीडियाकर्मियों पर निशाना
डाकबंगला चौक पर आरजेडी समर्थकों का भारी भीड़ मौजूद है. इसी दौरान झड़प में डांकबंगला चौक पर हंगामा हो गया. मीडिया कर्मियों पर भी हमला किया गया और वाहनों के साथ भी तोड़फोड़ की गई है. प्रदर्शनकारियों ने ओवी वैन को भी खदेड़ा. मौके पर भारी संख्या में भीड़ मौजूद है

दानापुर में आपस में भिड़े दो पक्ष
पटना के दानापुर-फुलवारीशरीफ में सीएए और एनआरसी को लेकर आरजेडी के बिहार बंद के दौरान 2 पक्ष आपस में भीड़ गए. इस दौरान फायरिंग और रोडेबाजी भी की गई. कई लोग घायल हो गए. मौके पर कई थानों की पुलिस पहुंची और मौके पर मौजूद है. 

आरा में पत्थरबाजी
आरा में आरजेडी के बंद का असल दिख रहा है. बंद समर्थकों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की. इसे मौके पर पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ा.

खगड़िया में दिख रहा असर
खगड़िया जिले में एनआरसी और सीएए के विरोध में आरजेडी बंद का व्यापर असर दिख रहा है. खगड़िया जिले के दर्जनों जगहों पर आगजनी और प्रदर्शन की गई. आरजेडी के नेता और कार्यकर्ता आगजनी और प्रदर्शन कर रहे हैं. शहर के राजेंद्र चौक एनएच 31, गौगरी बाजार, मंडैया बाजार पूरी तरह से बंद है. 

सीवान में दिखा असर
सीवान में आज बिहार बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है. आज सीवान के सभी चौक चौराहों और सड़कों पर महागठबंधन के नेता और सीएए के विरोध करने वाले लोग सड़कों पर घूम कर सभी दुकानों को शांतिपूर्ण ढंग से बंद करवा रहे हैं. साथ ही साथ केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे हैं. महागठबंधन के नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार के द्वारा जो नया कानून पारित किया गया है वह भारत के लिए बेबुनियाद है इस कानून को खत्म करना चाहिए.

मनेर में जाम में फंसे लोग
मनेर में कई जगह एनएच 30 पर लोगों ने आगजनी कर किया सड़क जाम मनेर के महादेवस्थान में लगभग 7 किलोमीटर तक लगा महाजाम में कई लोग फंसे. अशोक गोप, आरजेडी महासचिव के नेतृत्व में एनएच 30 पर भयानक आगजनी कर सड़0क जाम किया गया है जिस से आवागमन बाधित हो गया है. वहीं, लोग जाम में फंसे पड़े हैं. आरजेडी समर्थक लगातार घूम-घूम कर लोगों को एकजुट होने का नारा लगा रहे हैं और एनआरसी और सीएबी बिल की वापसी की मांग कर रहे हैं. आरजेडी समर्थक के साथ कांग्रेस हम के साथ तमाम नेता सड़क पर उतर चुके हैं.

दुकानदारों-बंद समर्थकों में ठनी
सुपौल जिले में बंद के दौरान आरजेडी के जिलाध्यक्ष और विधायक यदुवंश प्रसाद यादव के साथ लोगों ने जबरन दुकानें बंद करवाई. इससे दुकानदार भड़क गए. दुकानदारों का आरोप है कि बंद समर्थक गाली गलौज करने लगे और अपमानित किया. इसके बाद आक्रोशित दुकानदार विधायक से उलझ गए और बंद के विरोध में सड़क पर उतर गए. साथ ही उन्होंने प्रशासन से बदतमीजी और परेशान करने को लेकर कानूनी कार्रवाई की मांग करने लगे. बाद में एसडीपीओ ने हाथ जोड़कर लोगों को शांत कराया

एडीजी ने दिया बड़ा बयान
बिहार के पुलिस हेडक्वाटर के एडिशनल डीजी जितेंद्र कुमार ने जानकारी दी है कि बिहार बंद के दौरान कोई बड़ी घटना नही घटी है. उन्होंने कहा है कि बंद के दौरान अप्रिय घटनाएं नहीं हुई है. जितेंद्र कुमार ने कहा है कि सभी जिलो से रिपोर्ट ली जा रहीं है. कम्पाइल करने के बाद यह पता चलेगा कि सरकारी संपत्ति का कितना नुकसान हुआ है.