उपेंद्र कुशवाहा का आमरण अनशन आज से शुरू, NDA नेताओं के समर्थन का दावा

केंद्रीय विद्यालय के लिए जरूरी जमीन के लिए एनओसी नहीं मिलने पर उपेंद्र कुशवाहा आमरण अनशन पर बैठ रहे हैं. इससे पहले उनकी NDA नेताओं से मुलाकात की तस्वीर सामने आयी थी.

उपेंद्र कुशवाहा का आमरण अनशन आज से शुरू, NDA नेताओं के समर्थन का दावा
उपेंद्र कुशवाहा का आमरण अनशन.

पटना: राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) के आमरण अनशन से पहले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) नेताओं से मुलाकात का फोटो सामने आया है. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, रामविलास पासवान, सांसद चंदन सिंह से उपेंद्र कुशवाहा ने मुलाकात की. इस मुलाकात पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने कहा कि ये सभी नीतीश कुमार और सुशील मोदी विरोधी हैं. इसी कारण से मुलाकात हुई है. वहीं, भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कहा कि एनडीए में सबकुछ ठीक है.

बीजेपी ने दावा किया है कि महागठबंधन में भगदड़ मची हुई है. साथ ही कहा कि एनडीए में जो आएंगे उनके स्वागत है. इस मामल पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि इस मुलाकात को राजनीति तौर पर नहीं देखना चाहिए.

केंद्रीय विद्यालय के लिए जरूरी जमीन के लिए एनओसी नहीं मिलने पर उपेंद्र कुशवाहा आमरण अनशन पर बैठ रहे हैं. इससे पहले उनकी NDA नेताओं से मुलाकात की तस्वीर सामने आयी थी. इसको लेकर राजनीति तेज हो गई है. आरजेडी विधायक विजय प्रकाश ने कहा कि शिक्षा के मामले को लेकर अमरण अनशन कर रहे हैं. बिहार में अनियमितता है और स्कूल बनाने के लिए नीतीश कुमार के द्वारा एनओसी नहीं दिया जा रहा है.

आरजेडी विधायक ने कहा कि जो नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विरोधी हैं उनसे उपेंद्र कुशवाहा ने मुलाकात की है. नीतीश कुमार को हटाने के लिए इन्हें एकजुट कर रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि एनडीए नेताओं का समर्थन उपेंद्र कुशवाहा को मिल रहा है.

वहीं, कांग्रेस विधायक शकील अहमद ने कहा कि शिक्षा के सवाल पर उपेंद्र कुशवाहा आमरण अनशन कर रहे हैं. शिक्षा के ही सवाल पर उपेंद्र कुशवाहा सत्ताधारी पार्टियों के मंत्रियों और सांसदों से मिले हैं, क्योंकि बिहार सरकार ने पूरी शिक्षा व्यवस्था को ठप कर के रखी है.

बीजेपी प्रवक्ता जीवेश मिश्रा ने इस मुलाकात को लेकर कहा कि लोकतंत्र में सभी को सभी से मिलने का हक है. उन्होंने दावा किया कि एनडीए एक है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार विकास की राह पर है. मिलने-जुलने के लिए हम किसी को मना नहीं कर सकते. महागठबंधन में भगदड़ मच गई है. महागठबंधन में नेतृत्व को लेकर लड़ाई हो रही है. एनडीए में सबका स्वागत है. आने से एनडीए का कुनबा बढ़ेगा. बाकी शीर्ष नेतृत्व को फैसला करना है.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि इसे राजनीति तौर पर नहीं देखना चाहिए, क्योंकि उपेंद्र कुशवाहा यह समझ रहे हैं यह बड़ा मुद्दा है. यही कारण है कि एनडीए के लोगों से मुलाकात की है. आरजेडी क्या कहती है इससे कोई लेना देना नहीं, लेकिन इस बात से हम लोगों को टेंशन जरूर है कि आज 26 नवंबर है और 30 दिसंबर में कोई ज्यादा दिन नहीं है, लेकिन महागठबंधन की जो बड़ी पार्टी है उसके तरफ से कोई पहल कोआर्डिनेशन कमेटी को लेकर नहीं हो रहा है. इसको लेकर चिंता बड़ी है.

आरएलएसपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि बिहार की जनता जो चाह रही है वही हम कर रहे हैं. बिहार के बच्चों के भविष्य का सवाल हम उठा रहे हैं. उपेंद्र कुशवाहा अमरण अनशन कर रहे हैं. शिक्षा का मसला राजनीति नहीं है. बहुत सारे एनडीए के नेता उपेंद्र कुशवाहा के समर्थन में इस मंच पर दिखाई देंगे.