रामकुमार शर्मा के चुनाव लड़ने से कुशवाहा की मुश्किलें बढ़ी, मदद के लिए सामने आए माधव आनंद

आरएलएसपी महासचिव माधव आनंद ने रामकुमार शर्मा पर निशाना साधा है.

रामकुमार शर्मा के चुनाव लड़ने से कुशवाहा की मुश्किलें बढ़ी, मदद के लिए सामने आए माधव आनंद
काराकाट में उपेंद्र कुशवाहा के खिलाफ रामकुमार शर्मा चुनाव लड़ेंगे. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के खिलाफ रामकुमार शर्मा ने कराकाट से चुनाव लड़ने की घोषणा की है. जिसके बाद आरएलएसपी के महासचिव माधव आनंद ने कहा है कि काराकाट से अगर राम कुमार शर्मा चुनाव लड़ेंगे तो वह उपेंद्र कुशवाहा के लिए मदद होगी. उन्होंने कहा कि राम कुमार शर्मा को सीतामढ़ी से भगाया गया है. अगर वह इतने सक्षम होते तो उनका टिकट सीतामढ़ी से नहीं काटा जाता.

माधव आनंद ने कहा कि, उपेंद्र कुशवाहा का कोई मुक़ाबला नहीं है, असली आरएलएसपी हमारी है, जबकि उनकी पार्टी नकली है. वह एक गुट बनकर पार्टी बनाया है उनका कोई पहचान नहीं है. माधव आनंद ने कहा कि अब तक तीन गुट आरएलएसपी में हो चुके हैं. यह जो आरएलएसपी से अलग हुए हैं वह सभी अपने स्वार्थ के लिए पार्टी बना रहे हैं.

आपको बता दें कि आरएलएसपी में गुटबाजी पार्टी के एनडीए से अलग होने के बाद शुरू हुई. हालांकि इससे पहले अरुण कुमार की गुट ने आरएलएसपी से अलग होकर एक पार्टी बनाई थी. वहीं, इसके बाद पार्टी के एमएलए और एमएलसी सभी उपेंद्र कुशवाहा को राष्ट्रीय अध्यक्ष मानने से इनकार करते हुए आरएलएसपी पार्टी को अपनी पार्टी बताया.

वहीं, अब ललन पासवान गुट ने अपनी अलग पार्टी राष्ट्रवादी लोक समता पार्टी नाम से बनाई है. अब इस गुट ने उपेंद्र कुशवाहा के लिए मुश्किलें बढ़ा दी है. इस गुट के रामकुमार शर्मा ने काराकाट से चुनाव लड़ने का फैसला किया है. उनका कहना है कि उपेंद्र कुशवाहा को हराने के लिए वह काराकाट से चुनाव लड़ेंगे. यही नहीं उजियारपुर में भी कुशवाहा के खिलाफ चुनाव प्रचार किया जाएगा.