close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

क्या नरम पड़े उपेंद्र कुशवाहा? नीतीश कुमार से की है माफी मांगने की अपील

आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा जो जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है, शायद अब कुछ नरम दिख रहे हैं. 

क्या नरम पड़े उपेंद्र कुशवाहा? नीतीश कुमार से की है माफी मांगने की अपील
उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार से माफी मांगने की अपील की है. (फाइल फोटो)

पटनाः आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा जो जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है, शायद अब कुछ नरम दिख रहे हैं. क्योंकि उन्होंने अब नीतीश कुमार से माफी मांगने की अपील की है. उन्होंने कहा कि हमें कोई नाराजगी नहीं है, लेकिन उनकी बातों से हम आहत हुए हैं. इसलिए उन्हें अपनी बात वापस ले लेनी चाहिए.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार से सीट शेयरिंग को लेकर कोई लड़ाई नहीं है. उनसे कोई नाराजगी नहीं है. मैं नीतीश कुमार की बातों से निजी रूप से आहत हुआ हूं. मैं यह नहीं कह रहा कि वह माफी मांगे, लेकिन उन्हें अपनी बातों को वापस ले लेना चाहिए जो उन्होंने मेरे लिए कहा है.

उन्होंने कहा कि हमें अपमान सहन नहीं है, उन्होंने जो मेरे लिए शब्द कहा है केवल वह शब्द वापस ले लें. उन्होंने कहा इसका संबंध सीट शेयरिंग से बिल्कुल नहीं है. सीट शेयरिंग पर फैसले को लेकर बीजेपी से मांग की गई है. अब हम नरेंद्र मोदी से बात करने जा रहे हैं.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आगे क्या होगा मुझे नहीं पता है. हमने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से बात करने की कोशिश की, लेकिन किसी कारणवश उनसे बात नहीं हो पाई. उन्होंने कहा कि अब मैं अमित शाह से मुलाकात के लिए आग्रह नहीं करूंगा. हालांकि उन्होंने कहा कि अगर अमित शाह मुझे बुलाते हैं तो मैं उनके पास जरूर जाऊंगा.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि अब उन्हें केवल पीएम नरेंद्र मोदी से ही उम्मीद है. उनका कहना है कि पीएम मोदी उनके साथ जरूर न्याय करेंगे. वहीं, उन्होंने यह भी कहा कि आगे का फैसला पार्टी के साथ बैठक कर किया जाएगा. आरएलएसपी की सभा आयोजित होनेवाली है जिसमें सभी मिलकर बात करेंगे. बैठक में जो फैसला लिया जाएगा वही सब के लिए मान्य होगा.

आपको बता दें कि रविवार को उपेंद्र कुशवाहा राजधानी पटना में पैगाम-ए-खीर कार्यक्रम में शामिल हुए थे. जिसमें उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिए समाज में सदभावना के संदेश दिया जा रहा है. यह समाज में बराबरी का संदेश दे रहे हैं. वहीं, उन्होंने जातियों से जोड़कर खीर को बनाने की रेसिपी भी बताई.