बिहार: शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर RLSP का प्रदर्शन, कुशवाहा ने जनता से की यह अपील...

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि शिक्षा मुद्दा बनाने की आवश्यकता इसलिए हो गई क्योंकि हम मानते हैं कि शिक्षा के बिना कुछ भी नहीं हो सकता है.

बिहार: शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर RLSP का प्रदर्शन, कुशवाहा ने जनता से की यह अपील...
शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर आरएलएसपी ने पटना में प्रदर्शन किया. (तस्वीर साभार-@UpendraRLSP)

पटना: राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) ने रविवार को शिक्षा सुधार के मुद्दे पर राजधानी पटना में प्रदर्शन किया. इस मौके पर आरएलएसपी चीफ और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने कहा कि शिक्षा सुधार के मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया गया. अब इस मसले पर सरकार से कुछ मांगने का समय नहीं है. लिहाजा जनता से ही पार्टी अपील कर रही है कि शिक्षा सुधार को ईवीएम (EVM) का बटन दबाने का आधार बनाएं.

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि शिक्षा मुद्दा बनाने की आवश्यकता इसलिए हो गई क्योंकि हम मानते हैं कि शिक्षा के बिना कुछ भी नहीं हो सकता है. आज गांव में रहने वाला हर गरीब आदमी भी सोचता है कि हमारा बाल बच्चा भी आगे बढ़े, एसपी, कलेक्टर, डॉक्टर और इंजीनियर बड़ा आदमी बने. लेकिन यह काम शिक्षा के बगैर संभव नहीं है.

उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय की बात सभी लोग करते हैं. लेकिन सामाजिक न्याय का लाभ वंचित लोगों को तभी मिल पाएगा जब शिक्षा व्यवस्था अच्छी होगी. कुशवाहा ने कहा कि रोजगार की बात सब लोग करते हैं. लेकिन रोजगार के लिए भी अच्छा प्रबंध तभी हो सकता है जब लोगों को शिक्षा मिले, आज शिक्षा व्यवस्था पूर्ण रूप से चौपट है, जो पैसे वाले लोग हैं उनके लिए प्राइवेट स्कूल कॉलेज हैं. लेकिन गरीब लोगों के लिए कहीं शिक्षा नहीं है.

आरएलएसपी चीफ ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर अभी प्रोटोकॉल है तो इसको ध्यान में रखते हुए भी कोई भी रैली जैसा कार्यक्रम हमने नहीं बुलाया. हां हर जिले के लोग इसमें शामिल हुए हैं. वहीं, महागठबंधन (Mahagathbandhan) में सीटों के बंटवारे को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि एनडीए (NDA) में भी अभी कहां सीट शेयरिंग हुई है.

उन्होंने कहा कि अब चुनाव लगभग आ ही गया है तो सीटों का बंटवारा हो जाना चाहिए. लेकिन महागठबंधन में नहीं हुआ है तो बहुत असाधारण ढंग से देखने की जरूरत नहीं है. एनडीए भी अभी उसी स्थिति में है. लेकिन हम NDA से तुलना करने के कारण देर कर रहे हैं, ऐसा नहीं है. हम इतना ही कहेंगे की सीटों का मामला जल्दी ही सॉल्व  हो जाएगा और सारी चीजें तय हो जाएंगी.