close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: RLSP के बागी गुट को मिली मान्यता और चुनाव चिन्ह, उपेंद्र कुशवाहा को मिली राहत!

चुनाव आयोग ने आरएलएसपी के बागी गुट का नाम राष्ट्रीय समता पार्टी दिया है. गन्ना किसान इस पार्टी का चुनाव चिह्न है. 

बिहार: RLSP के बागी गुट को मिली मान्यता और चुनाव चिन्ह, उपेंद्र कुशवाहा को मिली राहत!
चुनाव आयोग ने आरएलएसपी के बागी गुट का नाम राष्ट्रीय समता पार्टी दिया है. (फाइल फोटो)

पटना: उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी के बागी नेताओं के लिए चुनाव आयोग नाम और चुनाव चिह्न जारी किया है. चुनाव आयोग ने आरएलएसपी के बागी गुट का नाम राष्ट्रीय समता पार्टी दिया है. गन्ना किसान इस पार्टी का चुनाव चिह्न है. 

आरएलएसपी के बागी नेताओं के लिए ये बड़ी जीत है और साथ ही आरएलएसपी और उपेंद्र कुशवाहा के लिए भी राहत भरी खबर है. आरएलएसपी की अंदरूनी लड़ाई लोकसभा चुनाव के पहले सीट बंटवारे के दौरान बाहर आई.

यह उपेंद्र कुशवाहा के लिए खासकर राहत भरी खबर है क्योंकि उनकी पार्टी महागठबंधन के साथ पांच सीटों पर चुनाव लड़ रही है. दूसरी तरफ बागी गुट को भी मान्यता मिल गई है और उन्हें चुनाव चिह्न भी मिल गई है.  

आयोग ने पहले कहा है कि आरएलएसपी के लिए आरक्षित चुनाव चिन्ह 'सीलिंग फैन' लोकसभा चुनाव 2019 के समाप्त होने तक जारी रहेगा. साथ ही आयोग ने यह भी कहा कि उपेंद्र कुशवाहा वर्तमान चुनाव तक पार्टी के अध्यक्ष के रूप में ही मान्यता रहेगी.

चुनाव आयोग ने कहा क्योंकि चुनाव चल रहा है और उपेंद्र कुशवाहा ने अपने एक उम्मीदवार को जमुई में चुनाव लड़ा चुके हैं. इसलिए इस चुनाव में उपेंद्र कुशवाहा चुनाव चिन्ह ज़ब्त नहीं किया सकता. लेकिन चुनाव के बाद वोटों के प्रतिशत को देखते हुए, उन्हें बुलाया जाएगा.

गौरतलब है कि हाल ही में आरएलएसपी से उपेंद्र कुशवाहा से नाराज होकर पार्टी के सभी विधायक, सांसद और प्रमुख नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है. साथ ही उन्होंने कुशवाहा की कथित पार्टी को झूठा आरएलएसपी बताया. ललन पासवान के नेतृत्व वाली समूह ने कहा कि उनकी पार्टी असली आरएलएसपी है और वह सभी चुनाव आयोग को 'सीलिंग फैन' चुनाव चिन्ह को जब्त करने के लिए पत्र लिखा था.