close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंडः लाखों का राजस्व देने वाली बड़ाजामदा की सड़कें है बदहाल, लाइफलाइन ठप

बड़ाजामदा की यह सड़क जिसने एक निर्दलीय विधायक को मुख्यमंत्री की कुर्सी दिलाई थी. लेकिन आज यह क्षेत्र फिर से बदहाली का शिकार हो गया है .

झारखंडः लाखों का राजस्व देने वाली बड़ाजामदा की सड़कें है बदहाल, लाइफलाइन ठप
बड़ाजामदा की सड़के झेल रही है बदहाली.

चाईबासाः झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले का बड़ाजामदा जहां से किरीबुरू, गुआ और बड़बिल की मुख्य सड़कें गुजरती है. इसी सड़क से लौह अयस्क के बड़े-बड़े वाहनों के द्वारा लौह अयस्क की ढुलाई की जाती है. यह वही क्षेत्र है जो राजस्व के लिए प्रमुख स्थान रखता है. और प्रदेश को करोड़ों का राजस्व प्रतिमाह मिलता है. लेकिन प्रदेश को राजस्व देने वाला सड़क बदहाल है और विकास की बात करने वाले लोगों की नजर इस पर बिल्कुल भी नहीं है.

बड़ाजामदा की यह सड़क जिसने एक निर्दलीय विधायक को मुख्यमंत्री की कुर्सी दिलाई थी. लेकिन आज यह क्षेत्र फिर से बदहाली का शिकार हो गया है और इसकी दशा बदतर हो गई है. यह सड़क स्थानीय लोगों से लेकर बाहरी लोगों के लिए काफी महत्वपूर्ण है, लेकिन इस पर जनप्रतिनिधियों से लेकर सरकार के उन अधिकारियों की नजर नहीं जाती जो लोगों के लाइफ लाइन को देखे.

बदहाल लोग बताते हैं कि सड़क उनके लिए लाइफ लाइन है. लेकिन सड़क की हालत ऐसी है कि लोगों के कारोबार से लेकर बच्चों की पढ़ाई तक सभी इससे प्रभावित हो रही है. लोगों का कहना है कि यह सब गंदी राजनीति का नतीजा है जिसे हमलोगों को झेलना पड़ रहा है.

दरअसल, सड़क पर इतना कचड़ा भरा पड़ा है कि छोटे वाहन ठीक से चल नहीं पाते हैं. बड़े वाहन चलते हैं तो लोगों का चलना मुश्किल हो जाता है. वहीं, सड़क पर लगाने वाले दुकानदारों का कहना है कि यहां कारोबार भी चौपट हो गया है. सड़क का कीचड़ उनके दुकानों में आता है इसलिए दुकान के दरवाजे बंद रहते हैं. 

मुखिया राजा तिरकी ने बताया कि इस सड़क से कई मंत्री सांसद विधायक आते जाते रहते है पर किसी ने कभी इस सड़क को लेकर सकारात्मक पहल नहीं की. हालांकि, चुनाव के वक्त इस मुद्दे पर सहानुभूति देकर वोट जरूर मांगने आते हैं. यहां की गंदी हालत राजनीति का ही परिणाम है.