टिकट नहीं मिलने से नाराज सरयू राय निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव, CM रघुवर दास को देंगे टक्कर

आज जमशेदपुर में अपने आवास पर कार्यकर्ताओं के साथ विचार-विमर्श और आगे की रणनीति पर चर्चा के बाद सरयू राय ने अपनी वर्तमान सीट जमशेदपुर पश्चिम के साथ-साथ जमशेदपुर पूर्वी से भी मैदान में उतरने का ऐलान किया है.  

टिकट नहीं मिलने से नाराज सरयू राय निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव, CM रघुवर दास को देंगे टक्कर
सरयू राय ने बीजेपी से बागी होकर दो सीटों से मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया है.

रांची: आखिरकार सरयू राय के सियासी रूख के रहस्य से आज पर्दा उठ गया. चौथी लिस्ट जारी होने के बाद भी बीजेपी से टिकट नहीं मिलने से नाराज सीनियर लीडर और रघुवर सरकार में मंत्री रहे सरयू राय ने बीजेपी से बागी होकर दो सीटों से मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया है.

आज जमशेदपुर में अपने आवास पर कार्यकर्ताओं के साथ विचार-विमर्श और आगे की रणनीति पर चर्चा के बाद सरयू राय ने अपनी वर्तमान सीट जमशेदपुर पश्चिम के साथ-साथ जमशेदपुर पूर्वी से भी मैदान में उतरने का ऐलान किया है.

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री रघुवर दास इसी सीट से वर्तमान विधायक हैं. इससे जमशेदपुर पूर्वी सीट पर लड़ाई दिलचस्प हो गयी है. इसी सीट से कांग्रेस ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भल्ला को मैदान में उतारा है.

वहीं, इस मामले पर झारखंड में सियासत भी शुरू हो गई है. बलमुचु ने कहा कि सरयू वैसे नेता हैं जिन्होंने पार्टी और सरकार में रहकर भी सरकार के गलत नीतियों का हमेशा विरोध करते रहे हैं जिसके लिए उन्हें रिवार्ड मिलना चाहिए था. लेकिन इन्हें टिकट ही नहीं दिया गया, बीजेपी के लिए और देश-राज्य महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि सिर्फ पार्टी सर्वोपरि है.

साथ ही उन्होंने कहा कि सरयू राय ने राज्य और जनता की भलाई के लिए सरकार के गलत नीतियों का हमेशा विरोध करते रहे क्योंकि व्यक्ति और पार्टी से बढ़कर देश और राज्य है. परंतु इसकी सजा उन्हें दी गई है जिसका इस चुनाव में काफी प्रभाव पड़ेगा.