close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बैंक मैनेजर ने की ग्राहक की पिटाई, आक्रोशित ग्रामीणों ने बैंक कर्मियों को बनाया बंधक

सोनू कुमार ने बताया कि नो ड्यू सर्टिफिकेट के लिए एक महीना से लगातार से बैंक का चक्कर लगा रहा हूं. शाखा प्रबंधक द्वारा बहाना बनाकर बात को टाल दिया जाता था. 

बिहार: बैंक मैनेजर ने की ग्राहक की पिटाई, आक्रोशित ग्रामीणों ने बैंक कर्मियों को बनाया बंधक
एसबीआई के कर्मियों को बनाया बंधक.

अरुण श्रीवास्तव, मुजफ्फरपुर : बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में एक बैंक में सभी कर्मियों को लोगों ने देर रात तक बंधक बनाकर रखा. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस भी बैंक के अंदर तो चली गई, लेकिन बाहर निकलने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. आक्रोशित लोगों ने पुलिस के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की. घटना गायघाट थाना के बेनीबाद ओपी क्षेत्र के कांटा गांव की है. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के ब्रांच मैनेजर ने एक ग्राहक की जमकर पिटाई कर दी.

पीड़ित बैंक के खाताधारी सोनू कुमार ने बताया कि नो ड्यू सर्टिफिकेट के लिए एक महीना से लगातार से बैंक का चक्कर लगा रहा हूं. शाखा प्रबंधक द्वारा बहाना बनाकर बात को टाल दिया जाता था. आज यानी मंगलवार को जब बैंक कर्मचारी से बात कर रहे थे कि इसी बीच शाखा प्रबंधक अपने केबिन से निकलकर मुख्य दरवाजा बंद करवा दिए और बेरहमी से मेरी पिटाई कर दी.

सूचना पर पहुंचे ओपी इध्यक्ष लालबिहारी गुप्ता ने मामले की जांच कर ही रहे थे कि इतने में प्रबंधक से नाराज ग्राहक और ग्रामीणों ने बैंक में ताला जड़ दिया. ग्राहकों का आरोप था कि हमेशा से यह कहकर लौट दिया जा रहा है कि समय नहीं है, बाद मे आना. इसी बात को लेकर बैंक में हंगामा और ग्राहक से मारपीट की गई.

एसबीआई बैंक प्रबंधक द्वारा ग्राहक से मारपीट का मामला बिगड़ते देख मौके पर मुजफ्फरपुर जिला के तीन थाना और दो ओपी की पुलिस स्थिति संभालने में लगी. ग्रामीण अविलंब बैंक प्रबंधक का इस्तीफा और कानूनी कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे. आक्रोशित ग्रामीणों ने बैंक में ताला जड़कर, सभी बैंक कर्मचारीयों को बंधक बना लिया. करीब 500 की संख्या में ग्रामीणों ने बैंक परिसर में जमकर हंगामा और नारेबाजी किया. किसी तरह बंधक बने बैंक कर्मी को पुलिस ने बैंक से निकाला.