दुर्गा पूजा को सुरक्षा के कड़े इंतजाम, 33 जिले संवेदनशील और 3 अतिसंवेदनशील घोषित

दुर्गा पूजा में सुरक्षा को लेकर पुलिस मुख्यालय ने बिहार के 33 जिलों को संवेदनशील और तीन जिलों को अतिसंवेदनशील माना है. पुलिस मुख्यालय ने संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था की है.   

दुर्गा पूजा को सुरक्षा के कड़े इंतजाम,  33 जिले संवेदनशील और 3 अतिसंवेदनशील घोषित

पटना: बिहार में दुर्गा पूजा के पर्व में लोगों में अच्छा खासा उत्साह नजर आ रहा है. दुर्गा पूजा में सुरक्षा को लेकर पुलिस मुख्यालय ने बिहार के 33 जिलों को संवेदनशील और तीन जिलों को अतिसंवेदनशील माना है. पुलिस मुख्यालय ने संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था की है. 

हालांकि केन्द्र सरकार से शांतिपूर्ण पूजा के लिए जितने अर्धसैनिक बलों की मांग की गई थी बिहार को उतने बल मिले नहीं. ऐसे में शांतिपूर्ण पूजा के लिए सुरक्षित व्यवस्था अब पुलिस मुख्यालय के लिए बडी चुनौती बन गई है.

दुर्गा पूजा में शांतिपूर्ण व्यवस्था करना पुलिस मुख्यालय के लिए बडी चुनौती बन गया है. मुख्यालय के स्तर पर हुई समीक्षा में बिहार के 33 जिलों को पूजा के दृष्टिकोण से संवेदनशील माना गया है. यही वजह है कि शांतिपूर्ण पूजा के लिए इन जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की जाएगी. 

अतिसंवेदनशील तीन जिलों में अर्धसैनिक बलों की तीन कंपनियां लगायी जाएंगी. जिनकी तैनाती पटना भागलपुर और दरभंगा में की गयी है. 16 से 22 अक्टूबर तक इनकी तैनाती रहेगी. सुरक्षा को ध्यान में रखकर पुलिस ने कुछ ऐसे बड़े फैसले भी लिए हैं. 

  • अर्धसैनिक बलों की कमी को पूरा करने के लिए पुलिस मुख्यालय ने बीएमपी की 7 कंपनियों को तैनात करने का फैसला लिया है.
  • 33 जिलों में 7 हजार 900 अतिरिक्त कान्सटेबल लगाये जाएंगे.
  • सीसीटीवी कैमरों से पूजा पंडालों के आसपास मॉनिटरिंग की जाएगी.
  • भीड़-भाड़ वाले इलाकों में फायर ब्रिगेड और वाटर कैनन की व्यवस्था की गई है.
  • सिविल ड्रेम में पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे.

बिहार सरकार के मंत्री भी मानते हैं कि पूजा के मद्देनजर इसतरह की सुरक्षा व्यवस्था बेहद जरुरी है. कुल मिलाकर कहा जाए तो शांतिपूर्ण तरीके से पूजा संपन्न कराना पुलिस मुख्यालय के लिए बडी चुनौती बनी हुई है. खासतौर पर हाल के दिनों में बिहार में एके 47 से बढते हमलों और एके 47 की बडी खेप बरामदगी के बाद ये चुनौती और बढ गई है.