close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में 'आफत' की बारिश ने ले ली 17 लोगों की जान

तेज आंधी और बारिश से जहां राजगीर मलमास मेले के कई पंडालों को नुक्सान हुआ वहीं, पेड़ गिरने से पांच पर्यटक घायल हो गए हैं.

बिहार में 'आफत' की बारिश ने ले ली 17 लोगों की जान
बीती रात आंधी और बारिश ने ले ली 17 लोगों की जान. (तस्वीर- ANI)

पटना : बिहार में बीती रात तेज आंधी और बारिश से गर्मी से तो जरूर राहत मिली, लेकिन इस तूफान ने 17 लोगों की जान ले ली. राज्य के विभिन्न हिस्सों में जबरदस्त नुकसान हुआ है. आपदा प्रबंधन विभाग नुकसान का ब्यौरा इक्कट्ठा करने में जुटा है. मिली जानकारी के मुताबिक गया में चार, मुंगेर में तीन, औरंगाबाद में पांच, कटिहार में तीन और नवादा में दो लोगों की जान चली गई.

तेज आंधी और बारिश से जहां राजगीर मलमास मेले के कई पंडालों को नुक्सान हुआ वहीं, पेड़ गिरने से पांच पर्यटक घायल हो गए हैं. घायलों में एक स्थिति गंभीर बताई जा रही है, जिसे बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर कर दिया गया.

घायलों में सुपौल के विजय शर्मा, सिकंदर शर्मा सहित तीन अन्य शामिल हैं. ये पहाड़ों पर घूमने गए थे इसी बीच तेज आंधी और बारिश हुई. इसी दौरान पेड़ उन लोगों पर पेड़ गिर पड़ा. आंधी के बाद पोरे राजगीर में बिजली की आपूर्ति ठप्प हो गई, जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.

वारसलीगंज थाना क्षेत्र के नेमाजगढ़ और नारोमुरार गांव में आकाशीय बिजिली गिरने से दो लोगों की मौत हो गई है. इसमें एक 16 वर्षीय युवती भी शामिल है. छत पर काम कर रही युवती पर ठनका गिरने से उसकी मौत हो गई. इतना ही नहीं आंधी-तूफान के कारण वारसलीगंज-नवादा पथ पर आवागमन कई घंटों तक बाधित रहा. बिजली के तार को भी काफी नुकसान पहुंचा है, जिसके कारण जिले में तकरीबन सभी हिस्सों में बिजली आपूर्ति की सेवा बाधित रही.

कटिहार में भी आंधी-तूफान का कहर देखने को मिला. यहां पेड़ उखड़ने से दो परिवारों का घर दब गया. शहर के गोशाला में एक महिला की मौत हो गई, जबकि कोढ़ा प्रखंड के पेखा गांव मे महादलित परिवार के दो लोगों की घर मे दबकर मौत हो गई. हादसे में अबतक चार लोगों के घायल होने की सूचना है. शहर के विभिन्न अस्पतालों में उनका इलाज हो रहा है. प्रशासन ने तीन लोगों के मरने की पुष्टि की है.