बिहारशरीफ कोर्ट पहुंचे शरद यादव, एग्जिट पोल को बताया पूरी तरह से फर्जी

 चंद्रबाबू नायडू के पीएम प्रोजेक्ट किये जाने की बात पर उन्होंने कहा कि पहले हम लोग जीत कर आएंगे उसके बाद कोई चर्चा होगी. 

बिहारशरीफ कोर्ट पहुंचे शरद यादव, एग्जिट पोल को बताया पूरी तरह से फर्जी
शरद यादव ने एग्जिट पोल को पूरी तरह फर्जी बताया.(फाइल फोटो)

दीपक विश्वकर्मा, बिहारशरीफ: आदर्श आचार संहिता उल्लंघन मामले में बिहार शरीफ कोर्ट पहुंचे शरद यादव ने एग्जिट पोल को पूरी तरह फर्जी बताया. उन्होंने कहा कि जब से यह एग्जिट पोल शुरू हुआ है तब से मैंने कहा है कि इसका कोई मायने नहीं है. यह अमेरिका यूरोप देश नहीं है जहां एक जाति के लोग रहते हैं. भारत में एक लाख से ज्यादा जातियां हैं और जाति के भीतर जाति है जिसमें डुबकी लगाना संभव नहीं है. 

उन्होंने कहा एग्जिट बिल्कुल ही फर्जी है. उन्होंने कहा कि यह एग्जिट पोल पूरी तरह शेयर बाजार को लेकर मेन्यूप्लेट किया गया है. चंद्रबाबू नायडू के पीएम प्रोजेक्ट किये जाने की बात पर उन्होंने कहा कि पहले हम लोग जीत कर आएंगे उसके बाद सभी पिपक्षी पार्टियों को एक-एक कर तीसरे मोर्चे का गठन कर सभी दलों के लोग एक साथ बैठकर इस पर चर्चा करेंगे और एनडीए को सत्ता से बेदखल करेंगे.

 

उन्होने पीएम के सवाल पर कहा कि पहले भी जैसे देवेगौड़ा अचानक प्रधानमंत्री बनाए गए थे जिनका पहले कोई नाम नहीं था ठीक उसी प्रकार इस बार भी होगा. शरद यादव आज बिहारशरीफ कोर्ट पहुंचे थे.

दरअसल 2015 में विधानसभा चुनाव के दौरान शरद यादव ते ऊपर बिहार थाना में आदर्श चुनाव आचार संहिता मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी थी. इसी मामले में आज उन्होंने बिहारशरीफ के व्यवहार न्यायालय में प्रथम श्रेणी न्यायाधीश के समक्ष समर्पण किया जहां से उन्हें जमानत दे दी गई.