close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनाव को ध्यान में रखकर बजट बनाया गया, आम आदमी को नहीं मिलेगी राहत : शरद यादव

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत किसानों को अकाउंट में सीधे पैसे दिए जाने के मामले पर भी शरद यादव ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

चुनाव को ध्यान में रखकर बजट बनाया गया, आम आदमी को नहीं मिलेगी राहत : शरद यादव
शरद यादव ने बजट को बताया छलावा. (फाइल फोटो)

स्वप्निल, नई दिल्ली/पटना : नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने मौजूदा कार्यकाल का अंतिम वित्तीय बजट पेश किया. इस दौरान किसानों, मध्यमवर्गीय वेतनभोगियों सहित अन्य वर्गों को खुश करने की कोशिश की गई है. बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव ने कहा है कि बजट पूरी तरह से 'आई वॉश' है. चुनाव को ध्यान में रखकर बजट बनाया गया है. आम लोगों फायदा नहीं होने वाला है.

वहीं, टैक्स स्लैब बढ़ाए जाने पर भी शरद यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह फैसला सरकार को पहले लेना चाहिए था, ना कि चुनाव से कुछ समय पहले.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत किसानों को अकाउंट में सीधे पैसे दिए जाने के मामले पर भी शरद यादव ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि जितने क्लाउज लगाकर इस नियम को लाया जा रहा है, उसका अनुपालन ही नहीं हो सकता है. यह भी एक तरह का छलावा है.

ज्ञात हो कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के प्रमुख जीतनराम मांझी ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 2019 का बजट मोदी सरकार का जुमला है. उन्होंने बजट को पूरी तरह से निराशाजनक बताया है. टैक्स में 5 लाख तक की आय पर छूट के बारे में मांझी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि अगर सरकार की मंशा होती तो टैक्स स्लैब को 8 लाख तक करती.