सरकार बताए कि बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए हैं: शत्रुघ्न सिन्हा

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर केंद्र सरकार बता देगी तो, मैं समझता हूं कि जनता का हौसला भी बुलंद होगा . सच्चाई सामने आएगी तो सरकार की वाहवाही होगी.

सरकार बताए कि बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए हैं: शत्रुघ्न सिन्हा
शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि कि सेना की तारीफ करना, अच्छी बातें करना और हौसला अफजाई करना हमलोगों का कर्तव्य और धर्म है. (फाइल फोटो)

पटना: भारतीय जनता पार्टी के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बालाकोट में हुए हवाई हमलों में आतंकवादियों के मारे जाने के दावों को अस्वीकृत करने वालों का समर्थन करते हुए गुरूवार को कहा कि केंद्र को इस हवाई हमले के विवरण के साथ सामने आना चाहिए.

पटना साहिब से सांसद ने कहा, ‘(कैबिनेट मंत्री) राधामोहन सिंह और (उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री) योगी आदित्यनाथ कह रहे हैं कि 400 आतंकी मारे गए हैं . अलग-अलग चैनल पर सरकार का कोई रागदरबारी कह रहा है कि 300 मारे गए हैं तो कोई कह रहा है 500 आतंकी मारे गये हैं.’

'सच्चाई सामने आएगी तो सरकार की वाहवाही होगी'
सिन्हा ने कहा, ‘ऐसे में विपक्ष के साथ-साथ देश की जनता यह जानना चाहती है कि कितने आतंकी मारे गए हैं. सेना के पराक्रम की कहानी के साथ हमले को किस हद तक अंजाम दिया गया है . अगर केंद्र सरकार बता देगी तो, मैं समझता हूं कि जनता का हौसला भी बुलंद होगा. सच्चाई सामने आएगी तो सरकार की वाहवाही होगी.’

पुलवामा में हुए आतंकी हमले को 'दुर्घटना' करार देने के मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बारे में पूछे जाने पर शत्रुघ्न ने कहा,‘मैं शब्दों के हेरफेर या जाल में नहीं पड़ना चाहता हूं . मैं इतना ही कहूंगा कि मैं दिग्विजय सिंह का बहुत आदर करता हूं. वह बहुत परिपक्व आदमी हैं. देश के लिए उन्होंने काफी योगदान दिया है. उनकी छवि काफी अच्छी है. ऐसा लग रहा है, वह कहना कुछ चाहते थे लेकिन शब्द कुछ और निकल गया .’

सिन्हा ने कहा कि कि सेना की तारीफ करना, अच्छी बातें करना और हौसला अफजाई करना हमलोगों का कर्तव्य और धर्म है. उन्होंने कहा, ‘आज की परिस्थितियों में जिस तरह सेना रात और दिन को जागकर देश को सुरक्षित रखती है, अपनी जान जोखिम में डालते हुए हम सबों के मान-मर्यादा को बरकरार रखती है. दुश्मनों के घर में घुस कर मुंहतोड़ जवाब देती है, वो सराहनीय, प्रशंसनीय और अनुकरणीय है .’

'देश की जनता कुछ बातें जानना चाहती है' 
उन्होंने कहा, ‘देश की जनता कुछ बातें जानना चाहती है और इसका कोई और अर्थ न निकाला जाए . केंद्र सरकार के लोग दुर्भाग्य से अलग-अलग बातें कर रहे हैं जबकि ऐसी घड़ी में उनको एक सुर में बात करनी चाहिए .’

बीजेपी पर अनदेखी करने का आरोप लगा कर, पार्टी से नाराज चल रहे शत्रुघ्न से जब यह पूछा गया कि वह स्वयं बीजेपी क्यों नहीं छोड़ देते हैं, तो उन्होंने कहा, ‘लोगों को जब जोर जुल्म और सितम इस तरह से दिखायी पड़ रहा है तो घड़ी आ रही है और कुछ नतीजे एवं परिणाम आपको मिलेंगे . कुछ सच्चाई सामने आएगी .’

यह पूछे जाने पर कि उनपर कौन जोर जुल्म और सितम कर रहा है, शत्रुघ्न ने हाल में पटना के गांधी मैदान में आयोजित राजग की संकल्प रैली में नहीं बुलाए जाने का जिक्र करते हुए सांसद ने कहा,‘अभी तक वह बीजेपी में ही हैं . उन्हें न तो पार्टी ने निकाला है और न ही उन्होंने पार्टी छोड़ी है . तो क्या वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की रैली पटना में थी मुझे नहीं बुलाया गया .’