close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चंद्रशेखर वर्मा की हुई कोर्ट में पेशी, कहा- जरूरत के हिसाब से सरेंडर करेगी मंजू वर्मा

मंजू वर्मा के अधिवक्ता ने कोर्ट में उनके खिलाफ इश्तेहार व कुर्की की प्रक्रिया पर रोक लगाने की अर्जी दाखिल की है.

चंद्रशेखर वर्मा की हुई कोर्ट में पेशी, कहा- जरूरत के हिसाब से सरेंडर करेगी मंजू वर्मा
चंद्रशेखर वर्मा की हुई पेशी. (फाइल फोटो)

बेगूसराय : बिहार सरकार के पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा को मंगलवार को बेगूसराय कोर्ट में पेश किया गया. 14 दिनों की न्यायिक हिरासत के तहत उन्हें बेगूसराय जेल में रखा गया है. समय सीमा की तिथि खत्म होने पर कोर्ट बंद रहेगा, इसलिए मंगलवार को ही उन्हें कोर्ट में पेश किया गया. इस दौरान उन्होंने कहा कि मंजू वर्मा पर न्यायिक प्रक्रिया के तहत वारंट जारी हुआ है. कोर्ट की जरूरत के हिसाब से वह आत्मसमर्पण करेंगी.

वहीं, दूसरी तरफ मंजू वर्मा के अधिवक्ता ने कोर्ट में उनके खिलाफ इश्तेहार व कुर्की की प्रक्रिया पर रोक लगाने की अर्जी दाखिल की है. वकील का कहना है कि मंजू वर्मा कोर्ट का सम्मान करते हुए बेगूसराय, पटना हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल की हैं. ऐसी स्थिति में कोर्ट से मंजू वर्मा के खिलाफ इश्तेहार और कुर्की की कार्रवाई का आदेश नहीं देने की अपील की है.

पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा की मुश्किलें बढ़ गई हैं. शेल्टर होम कांड में मंत्री की कुर्सी गंवाने वाली वर्मा पर अब गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है. वर्मा के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत गिरफ्तारी का वारंट जारी किया जा चुका है. यह वारंट बेगूसराय से जारी किया गया है.

मंजू वर्मा की आर्म्स एक्ट में अग्रिम जमानत याचिका खारिज, बढ़ी मुश्किलें

इससे पहले मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. मंजू वर्मा के पति का नाम बिहार के चर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में सामने आया था और उनके ऊपर आरोप लगे थे. आर्म्स एक्ट केस में नाम आने के बाद से तत्कालीन मंत्री मंजू वर्मा के पति लगातार फरार चल रहे थे.

बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. सुनवाई के दौरान बिहार सरकार ने कोर्ट के नोटिस का जवाब देते हुए कहा था कि पूर्व मंत्री मंजू वर्मा नहीं मिल रही हैं. इसलिए पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर पा रही है.