सेना के जवानों के लिए रक्षासूत्र तैयार कर रही बहनें, ये राखियां इसलिए हैं खास...

यह राखी सैनिक भाईयों को लिफाफे में बंद कर कोरोना संक्रमण से बचाव के संदेश के साथ मास्क और सैनिटाइजर के साथ ही भेजा जाएगा. फिलहाल 3000 राखी तैयार कर लिया गया है.

सेना के जवानों के लिए रक्षासूत्र तैयार कर रही बहनें, ये राखियां इसलिए हैं खास...
सेना के जवानों के लिए रक्षासूत्र तैयार कर रही बहनें, ये राखियां इसलिए हैं खास...

रांची: भाई-बहन के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन जल्द आने वाला है जिसकी तैयारी करने में बहनें जुटी हुई हैं. ऐसे में राजधानी रांची के चुटिया इलाके की अयोध्यापुरी में महिलाओं का एक समूह 5000 से अधिक राखियां तैयार कर रहा है जो सीमा पर तैनात जवानों को भेजा जाएगा. 

यह राखी सैनिक भाईयों को लिफाफे में बंद कर कोरोना संक्रमण से बचाव के संदेश के साथ मास्क और सैनिटाइजर के साथ ही भेजा जाएगा. फिलहाल 3000 राखी तैयार कर लिया गया है. यह राखी रेशम के धागे, रुद्राक्ष, मोती और अन्य कई मैटेरियल से तैयार किए जा रहे हैं. 

इस इलाके में 10 से अधिक सेना के जवान हैं. उनकी बहन और पत्नी भी राखी बनाने में जुटी हुई हैं. उनका कहना है कि हमारे बच्चे हमारे पति बाहर देश की सेवा करने के लिए बॉर्डर पर तैनात हैं. ऐसे में उन तक ये रक्षा सूत्र पहुंचाना हमारा फर्ज है और इसे तैयार कर हमें काफी खुशी मिलती है. 

जिस तरह से सैनिक हम सबों की रक्षा कर रहे हैं, उनकी रक्षा यह रक्षासूत्र करेगा. इसे तकरीबन 8 दिनों में 1 दर्जन से अधिक महिलाएं तैयार कर रही है. पिछले 10 वर्षों से ये सभी महिला राखी तैयार कर रही हैं, लेकिन कोरोना को लेकर ये सभी सैनिक भाई के कलाई पर बांध नही पाएंगी.