मस्कट में बिहार के 6 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सुरंग में पानी भरने से हुआ हादसा

मृतक का भांजा विशाल गिरी के मुताबिक, सुनील अपने अन्य साथियों के साथ सुरंग में पाइपलाइन बिछा रहा था. इसी दौरान अचानक सुरंग की दूसरी तरफ से पानी भरने लगा. 

मस्कट में बिहार के 6 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सुरंग में पानी भरने से हुआ हादसा
गोपालगंज के सुनील भारती की गई हादसे में जान. (फाइल फोटो)

गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) के एक युवक की मस्कट के ओमान में सुरंग में पानी भरने से दर्दनाक मौत हो गई. वहीं, इस भीषण हादसे में गोपालगंज और सीवान के कुल छह मजदूरों की मौत (Death) हो गई है. इनमें गोपालगंज के दो और सीवान के चार मजदुर शामिल हैं. बताया जाता है कि सभी मजदूर ओमान के निजी कम्पनी में पाइप लाइन बिछाने के दौरान हादसे के शिकार हुए हैं. मृतक के परिजन शव को अपने वतन वापस लाने और मुआवजा की मांग कर रहे हैं. 

28 वर्षीय मृतक का नाम सुनील भारती है. वह नगर थाना के मठ सहदुलेपुर गांव का रहने वाला था. बताया जाता है कि सुनील एक साल पहले मस्कट के ओमान में कमाने के लिए गया हुआ था. यहां वह ओमान के शहीद अल सेबी कम्पनी में पाइपलाइन बिछाने का काम करता था.

मृतक का भांजा विशाल गिरी के मुताबिक, सुनील अपने अन्य साथियों के साथ सुरंग में पाइपलाइन बिछा रहा था. इसी दौरान अचानक सुरंग की दूसरी तरफ से पानी भरने लगा. जिसकी वजह से सुनील भारती सहित छह मजदूरों की दम घुटने से दर्दनाक मौत हो गई. मृतक के परिजनों के मुताबिक, हादसे की सूचना उनके भाई को दुबई में मिली.

घरवालों को जैसे ही इस घटटना की सूचना मिली कि कोहराम मच गया. मृतक को एक दो वर्ष की बेटी है. जबकि एक सात महीने का बेटा भी है. हादसे की सूचना मिलते ही मृतक की पत्नी भी अपने मायके से मठ सहदुलेपुर गांव पहुंच गई है. मृतक सुनील भारती की मां दिव्यांग हैं, जिनका रो-रोकर बुरा हाल है. परिजनों को मुताबिक, इस हादसे में गोपालगंज के सुनील के अलावा उचकागांव थानाक्षेत्र के एक युवक और सीवान के चार युवकों की मौत हुई है.

मृतक के ससुर कन्हैया गिरी के मुताबिक, वे बैकुंठपुर के सिन्हासिनी गांव के रहने वाले हैं. उन्होंने अपनी बेटी की शादी नगर थाना के मठ सहदुलेपुर निवासी सुनील भारती से की थी. वह ओमान में मजदूरी करता था. लेकिन हादसे में उनके दामाद की दर्दनाक मौत हो गयी है. उन्होंने सरकार से अनुरोध किया है की उनके दामाद का शव घर पर भिजवा दिया जाए साथ ही मृतक के आश्रितों को मुआवजा भी दिया जाए.