झारखंड: कोडरमा में मिट्टी जांच केंद्र की स्थापना की गई

किसान कृषि के आधुनिक तरीकों के जरिए उन्नत कृषि कार्य कर सकें इसके लिए रघुवर सरकार ने कोडरमा में मिट्टी जांच केन्द्र की स्थापना की है .

झारखंड: कोडरमा में मिट्टी जांच केंद्र की स्थापना की गई

कोडरमा में किसानों की आय दोगुनी हो सके और झारखंड के किसान खुशहाल जिंदगी जी सके इसके लिए रघुवर सरकार लगातार कोशिशे कर रही है. इसी कड़ी में कोडरमा में मिट्टी जांच केंद्र की स्थापना की गई है ताकि किसान कम लागत में अच्छी फसल हासिल कर सके. 

किसान कृषि के आधुनिक तरीकों के जरिए उन्नत कृषि कार्य कर सकें इसके लिए रघुवर सरकार ने कोडरमा में मिट्टी जांच केन्द्र की स्थापना की है . जिसका लाभ आज दूर-दराज के किसानों को भी मिल रहा है और किसान अपने खेतों की मिट्टी के अनुरूप खाद-बीज का इस्तेमाल कर उत्पादन क्षमता को बढा रहे हैं और समृद्ध हो रहे हैं.

किसानों को फसलों की पैदावर बढ़ाने के उपाय भी इस केंद्र में बताए जाते हैं. जांच केन्द्र में मिट्टी के नमूनो की कई आधुनिक विधियों से जांच की जाती है और उसके अनुरूप किसानों को खाद-बीज इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है . 

मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी का पता लगाकर खेतों की पैदावार बढाई जा रही है जिससे किसानों की आय में वृद्दि हो रही है मिट्टी जांच केन्द्र के कर्मी जिले के विभिन्न प्रखंडों से लाये गये मिट्टी के नमूनों की जाँच करते हैं. 

लैब में मिट्टी के नमूनों की 12 पैरामीटर्स पर जांच होती है . जांच के बाद जो मृदा स्वास्थ्य कार्ड किसानों को उपलब्ध कराया जाता है उसकी वैलिडिटी 3 साल तक रहती है.सबसे महत्त्वपूर्ण बात ये कि इन सेवाओं के लिए किसानों को कहीं भाग दौड करने की जरूरत नही . सरकार ये सारी सुविधाएँ किसानों को घर बैठे उपलब्ध करवा रही है. किसानों की आय दोगुनी करने की सरकार की कोशिश रंग ला रही है. किसानों की आय में भारी बढोतरी हो रही...जिससे किसान खुशहाल हैं. 

(एक्सक्लूसिव फीचर)