close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बेटे-बेटी ने किया मां के रिश्ते को शर्मसार, बीमार स्थिति में छोड़ा सड़क किनारे

 बिहार के जहानाबाद के जाफरगंज मोहल्ले में 75 साल की बूढ़ी महिला को उसके ही बेटे और नाती ने घर से निकाल दिया. 

बिहार: बेटे-बेटी ने किया मां के रिश्ते को शर्मसार, बीमार स्थिति में छोड़ा सड़क किनारे
जहानाबाद के जाफरगंज मोहल्ले में 75 साल की बूढ़ी महिला को उसके ही बेटे और नाती ने घर से निकाल दिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जहानाबाद: देश में कड़े क़ानून बनने के बाद भी बुजुर्गों की अवहेलना और उनकी प्रताड़ना रुकने का नाम नहीं ले रही है. बिहार के जहानाबाद के जाफरगंज मोहल्ले में 75 साल की बूढ़ी महिला को उसके ही बेटे और नाती ने घर से निकाल दिया. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि महिला का पैर पहले से ही टूटा हुआ है. महिला के पैर में रॉड लगी हुई है. 

बुजुर्ग महिला ने बताया कि नालंदा जिले के हिलसा की रहने वाली है. उसका एक बेटा और बेटी जाफरगंज मोहल्ले में रहते है. पहले उसके बेटे ने महिला को घर से निकाल दिया. घर से निकाले जाने के बाद महिला पास ही में अपनी बेटी के यहां चली गई. लेकिन महिला को वहां भी प्रताड़ित किया गया. महिला के नाती ने उसे सड़क किनारे छोड़ दिया और भाग गया. 

 

बुजुर्ग महिला को सड़क किनारे देख लोगों ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने बुजुर्ग महिला की हालत देखी और महिला को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया. स्थानीय लोगों ने बताया कि महिला सड़क किनारे पड़ी हुई थी. लोगों ने ही पुलिस को सूचना दी. 

पुलिस जब बेटे के घर गई तो बेटा पहले ही घर मे ताला बंद कर फरार हो गया है. दूसरी तरफ पुलिस मामले की छानबीन करने में जुटी है. लेकिन सवाल ये उठता है कि सरकार भले ही अभिभावकों के देखभाल नहीं करने पर कड़े कानून बनाकर सजा दिलाने का दावा कर रही हो लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है.