झारखंड : प्राइवेट स्कूलों को टक्कर देने के लिए राज्य सरकार खोलेगी मॉडल स्कूल

बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले इसके लिए कोडरमा के सभी ब्लॉक में मॉडल स्कूल खोला जा रहा है जहां ना सिर्फ सभी विषयों के अलग-अलग शिक्षक होंगे बल्कि म्यूजिक, डांस और स्पोर्ट्स टीचर भी बहाल किए जाएंगे. मॉडल स्कूल को प्राइवेट स्कूल से बेहतर बनाया जाएगा.

झारखंड : प्राइवेट स्कूलों को टक्कर देने के लिए राज्य सरकार खोलेगी मॉडल स्कूल

बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले इसके लिए कोडरमा के सभी ब्लॉक में मॉडल स्कूल खोला जा रहा है जहां ना सिर्फ सभी विषयों के अलग-अलग शिक्षक होंगे बल्कि म्यूजिक, डांस और स्पोर्ट्स टीचर भी बहाल किए जाएंगे. मॉडल स्कूल को प्राइवेट स्कूल से बेहतर बनाया जाएगा.

हर मां-बाप का सपना होता है कि उनके बच्चे का दाखिला ऐसे स्कूल में हो जहां उन्हें क्वालिटी एजुकेशन तो मिले ही. एक्स्ट्रा एक्टिविज में शामिल होने का मौका भी मिले. रघुवर सरकार ने उनकी चिंता दूर कर दी है. कोडरमा के सभी 6 प्रखंडों में सरकार ने अलग अलग मॉडल स्कूल खोलने का फैसला किया है. इन स्कूलों में बच्चों का हर तरह का विकास संभव हो सकेगा

जिन-जिन स्कूलों को मॉडल स्कूल में तब्दील किया जाना है. उन स्कूलों के प्राचार्यों के साथ जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग ने बैठक भी की है जिसमें स्कूलों की मूलभूत सुविधाओं में बदलाव लाने पर चर्चा हुई है. सरकार की इस योजना से ना सिर्फ सभी विषयों के अलग-अलग शिक्षक होंगे..बल्कि म्यूजिक, डांस, स्पोर्ट्स के टीचर भी बहाल किए जाएंगे. सरकार के इस फैसले से छात्रों में भी बेहद खुशी है. छात्रों को लगता है कि उन्हें प्राइवेट स्कूल में पढ़ नहीं पाने की कसक मॉडल स्कूल दूर कर देगी..

मॉडल स्कूल का बेस पूरी तरह से निजी स्कूलों की तरह होगा और रघुवर सरकार का ये कॉन्सेप्ट नामी गिरामी निजी स्कूलों को टक्कर देगा. रघुवर सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़े. ऐसे में मॉडल स्कुल के रूप में सरकारी स्कूलों का विकसित किया जाना रघुवर सरकार की दूरगामी और बेहतर सोच का नतीजा है.

(एक्सक्लूसिव फीचर)