बिहार: कॉन्सटेबल पद की बहाली के लिए दिख रहा उत्साह, गांधी मैदान में जमकर हो रही प्रैक्टिस

बिहार पुलिस में कॉन्स्टेबल बनने के लिए फिजिकल टेस्ट 7 दिसंबर से पटना हाईस्कूल में शुरू हो रहा है. कॉन्स्टेबल पद पर बहाली के लिए लड़के-लड़कियों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है. पटना के गांधी मैदान में इन दिनों सैकड़ों की संख्या में लड़के-लड़कियां अलग-अलग ग्रुप बनाकर प्रैक्टिस कर रहे हैं.

बिहार: कॉन्सटेबल पद की बहाली के लिए दिख रहा उत्साह, गांधी मैदान में जमकर हो रही प्रैक्टिस
कॉन्स्टेबल पद पर बहाली के लिए लड़के-लड़कियों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है.

पटना: बिहार पुलिस में कॉन्स्टेबल बनने के लिए फिजिकल टेस्ट 7 दिसंबर से पटना हाईस्कूल में शुरू हो रहा है. कॉन्स्टेबल पद पर बहाली के लिए लड़के-लड़कियों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है. पटना के गांधी मैदान में इन दिनों सैकड़ों की संख्या में लड़के-लड़कियां अलग-अलग ग्रुप बनाकर प्रैक्टिस कर रहे हैं. ठंड की शुरुआत हो गई है और इनके उत्साह को देखकर ऐसा नहीं लगता है कि सर्दी इनकी राह में रोड़े अटका पाएगी.

आंखों में सपना बिहार पुलिस (Bihar Police) की वर्दी पहनने का है और यही वजह है कि लड़के हों या लड़कियां ये लगातार प्रैक्टिस में जुटे हैं. हाई जंप के साथ ही ये लड़के गांधी मैदान का भी चक्कर लगा रहे हैं ताकि सरकारी नौकरी पाने का चक्कर हमेशा के लिए खत्म हो जाए. इन्हीं लड़कों के झुंड में कुछ ऐसे भी हैं जो बेहतर ट्रेनिंग के लिए गोपालगंज, बांका, बगहा सहित सुदूर इलाके से पटना पहुंचे हैं.

इसी बीच केन्द्रीय चयन पर्षद(सिपाही भर्ती) यानि सीएसबीसी ने फिजिकल टेस्ट के लिए अपनी तैयारियां करीब-करीब कर ली हैं.गर्दनीबाग स्थित पटना हाईस्कूल में फिजिकल टेस्ट होना है.तैयारियों को देखने के लिए सीएसबीसी के आळा अधिकारी यहां लगातार कैंप कर रहे हैं. फिजिकल टेस्ट में दौड़, हाईजंप और गोला फेंक जैसी प्रक्रिया होती है.पटना हाईस्कूल मैदान को पूरी तरह से तैयार कर लिया गया है. 

दौड़ के लिए मैदान को समतल किया जा रहा है. क्योंकि फिजिकल टेस्ट कोरोना के गंभीर संक्रमण के बीच हो रहे हैं लिहाजा इसके लिए सीएसबीसी ने अपने स्तर से तैयारियां  की हैं. सीएसबीसी के चेयरमैन एस के द्वेदी के मुताबिक,अभ्यर्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने के लिए कहा गया है. 

एसके द्विदी के मुताबिक,फिजिकल टेस्ट के लिए जिस तकनीक का उपयोग हो रहा है उसे आरएफआईडी कहा जाता है. इसकी क्षमता रोजाना 2 हजार अभ्यर्थियों की जांच करने को लेकर है. कोरोना न फैले इसलिए हम अधिक से अधिक 400 उम्मीदवारों को रोजोना फिजिकल के लिए बुलाएंगे.

  • 7 दिसंबर से शुरू हो रहे फिजिकल टेस्ट पर 
  • बिहार पुलिस में कॉन्स्टेबल के 11 हजार 880 पदों पर बहाली
  • इस साल जनवरी और मार्च में लिखित परीक्षा का आयोजन
  • लिखित परीक्षा के आयोजन के बाद जुलाई में होनी थी फिजिकल टेस्ट
  • कोरोना के संकमण और ट्रेन न चलने के कारण फिजिकल टेस्ट अब दिसंबर से
  • 11 हजार 880 पदों के लिए 55 हजार से अधिक अभ्यर्थियों का होना है फिजिकल
  • बिहार सहित दूसरे राज्यों से भी आएंगे अभ्यर्थी
  • 7 जनवरी से 30 जनवरी तक होना है फिजिकल

7 दिसंबर से फिजिकल कॉन्स्टेबल के लिए शुरू हो रहा है.कोरोना काल को देखते हुए सारी तैयारियां की जा रही है. हर टेबल पर सेनेटाइजर रखा जाएगा. अभ्यर्थियों  से कहा गया है कि खाने पाने की चीजें साथ लेकर आएं और व परिवार के साथ नहीं आए. सबसे अधिक भीड़ रजिस्ट्रेशन और दौड़ के दौरान होती है लिहाजा इसमें हमारी खास नजर रहेगी. 

कोई शक नहीं कि,कोरोना के खतरों के बीच कॉन्स्टेबल के लिए फिजिकल टेस्ट शुरू होने जा रहा है. लेकिन वैसे अभ्यर्थी जिनका सपना कॉन्स्टेबल बनने का है वो लगातार पसीना बहाकर अपनी तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं. वहीं, सीएसबीसी के सामने भी ये चुनौती है कि वो किस तरह से हजारों अभ्यर्थियों के साथ कॉन्स्टेबल पद की पूरी प्रक्रिया को सफलता के साथ पूरा करता है.