लॉकडाउन से जामिया हॉस्टल में फंसे बिहार के छात्र घरों के लिए हुए रवाना

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हॉस्टल में रह रहे बिहार के विभिन्न हिस्सों के छात्र-छात्राएं पांच स्पेशल बसों के जरिए बिहार स्थित अपने घरों के लिए रवाना हुए हैं. 

लॉकडाउन से जामिया हॉस्टल में फंसे बिहार के छात्र घरों के लिए हुए रवाना
छात्र-छात्राएं पांच स्पेशल बसों के जरिए बिहार स्थित अपने घरों के लिए रवाना हुए हैं. (फोटो साभार: IANS)

पटना: जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हॉस्टल में रह रहे बिहार के विभिन्न हिस्सों के छात्र-छात्राएं पांच स्पेशल बसों के जरिए बिहार स्थित अपने घरों के लिए रवाना हुए हैं. इन सभी बसों का इंतजाम जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा किया गया. कोविड-19 के चलते जारी लॉकडाउन की वजह से ये छात्र अपने हॉस्टल में फंसे हुए थे. 

जामिया विश्वविद्यालय से रवाना की गई बसें कटिहार, पूर्णिया, मुज़फ्फरपुर, नालंदा और भागलपुर जिलों के लिए रवाना हुईं. पांच बसों में एक स्टुडेंट ग्रुप लीडर के साथ 130 छात्र सवार हुए. पश्चिम बंगाल के 3 छात्र भी कटिहार जाने वाली बस से गए. वे वहां से, अपने इंतेजाम से पश्चिम बंगाल के लिए रवाना होंगे. छात्रों के साथ हर बस में यूनिवर्सिटी के दो गार्ड भी गए हैं.

ये पांच नियत स्थान बिहार के 30 जिलों को कवर करेंगे. छात्र बस के गंतव्य जिलों में से अपने गृह जिले की नजदीकी के मुताबिक किसी नियत स्थान पर उतरेंगे. विश्वविद्यालय के मुख्य प्रॉक्टर ने संबंधित छात्रों के यात्रा विवरण के बारे में, बिहार सरकार और सभी 30 जिलों के स्थानीय प्रशासन को भी अवगत करा दिया है.

कुलपति प्रो नजमा अ़ख्तर ने संतोष व्यक्त किया और कहा, "हमें उम्मीद है कि ये छात्र अपने अपने घर सुरक्षित पहुंचेंगे और जम्मू-कश्मीर तथा झारखंड के छात्रों की तरह अपने परिवार के साथ होंगे. इससे पहले उक्त दोनों राज्यों के छात्रों को भी उनके घर भेजने की जामिया ने विशेष व्यवस्था की थी."