फीस के अभाव में छात्रों को परीक्षा में बैठने से नहीं जाएगा रोका: CM हेमंत

उन्होंने कहा कि कई छात्र छात्राएं के फीस नहीं देने को लेकर प्रबंधन ने परीक्षा में बैठने देने से असमर्थता जताई थी. इसको लेकर हमने तत्काल प्रभाव से सभी छात्रों को परीक्षा देने दिया जाए, ऐसा निर्देश दिया है.

फीस के अभाव में छात्रों को परीक्षा में बैठने से नहीं जाएगा रोका: CM हेमंत
सीएम हेमंत ने प्रोजेक्ट भवन में बैठक की. (तस्वीर साभार-@HemantSorenJMM)

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने सोमवार को प्रोजेक्ट भवन में पहले दिन समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि बैठक से ही पता चलेगा क्या हो रहा है, क्या करना है और कैसे राज्य की चीजों को उपयोगिता में लाना है.

उन्होंने कहा कि संसाधनों का उपयोग कैसे होगा और लोगों को इसका लाभ कैसे मिले इसके लिए यह सब जरूरी है. सीएम ने कहा कि इसके लिए पदाधिकारी तो अपना काम करते हैं, लेकिन सरकार के मंत्री और जनप्रतिनिधियों के विचार होते हैं. उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि लोगों की भावना से जुड़े होते हैं.

इस दौरान सीएम ने कहा कि फीस के आभाव में किसी भी छात्र को परीक्षा से वंचित नहीं किया जाएगा, इसका आदेश मैंने दिया है. उन्होंने कहा कि कई शिकायतें आ रही थी कि कोल इंडिया इलाकों वाले स्कूलों में अचानक फीस बढ़ोतरी कर दी गई है.

उन्होंने कहा कि कई छात्र छात्राएं के फीस नहीं देने को लेकर प्रबंधन ने परीक्षा में बैठने देने से असमर्थता जताई थी. इसको लेकर हमने तत्काल प्रभाव से सभी छात्रों को परीक्षा देने दिया जाए, ऐसा निर्देश दिया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे सरकारी हो या गैर सरकारी स्कूल, फीस के अभाव में परीक्षा देने से किसी भी छात्र को नहीं रोक जाएगा. वहीं, बैठक के बाद पेयजल आपूर्ति मंत्री ने कहा कि सीएम ने साफ निर्देश दिया है कि गर्मी में पानी की किल्लत नहीं होनी चाहिए. अगर कहीं कोई शिकायत आती है कि लोगों को पीने की परेशानी हो रही है तो संबंधित अधिकारी पर गाज गिरेगी.