close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चमकी बुखार के मुद्दे पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार, 24 जून की दी तारीख

याचिका में कहा गया है कि बिहार सरकार बीमारी को फैलने से रोकने में नाकाम रही है, इसलिए कोर्ट और केंद्र सरकार मामले में दखल दे. 

चमकी बुखार के मुद्दे पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार, 24 जून की दी तारीख
मुजफ्परपुर में चमकी बुखार का कहर जारी है. (तस्वीर- ANI)

नई दिल्ली/पटना : बिहार में जारी इंसेफ्लाइटिस से 100 से ज्यादा बच्‍चों की मौत को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. 24 जून को सुनवाई की तारीख रखी गई है. याचिका में राज्य सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कोर्ट के दखल की मांग की गई है. साथ ही कहा गया है कि कोर्ट सरकार को 500 आईसीयू इंतजाम करने, 100 मोबाइल आईसीयू को मुजफ्फरपुर भेजने और पर्याप्त संख्या में डॉक्टर उपलब्ध कराने के लिए कहा है.

याचिका में कहा गया है कि बिहार सरकार बीमारी को फैलने से रोकने में नाकाम रही है, इसलिए कोर्ट और केंद्र सरकार मामले में दखल दे. बिहार और केंद्र सरकार को निर्देश दिया जाए कि प्रभावितों के इलाज के लिए बिहार में करीब 500 आईसीयू और 100 मोबाइल आइसीयू की व्यवस्था करे.

बिहार: नहीं थम रहा चमकी बुखार का कहर, बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़कर हुआ 144

इसके साथ याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह आदेश जारी करे जिसमें निजी अस्पतालों को बीमार बच्चों का मुफ्त में इलाज करने के लिए कहा जाए. यह भी मांग की गई है कि इस बीमारी से जिन बच्चों की मौत हो गई है उनके पीड़ित परिवारों को मुआवजा दिया जाए.

दो वकील मनोहर प्रताप और सनप्रीत सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर मांग की है कि चमकी बीमारी (Acute Encephalitis Syndrome) से बच्चों की मौत का आंकड़ा सौ को पार गया है.