बाढ़ व सुखे की समीक्षा करने सुशील मोदी पहुंचे गोपालगंज, कहा- किसी को नहीं होगी परेशानी

सुशील मोदी सोमवार को गोपालगंज जिला समाहरणालय परिसर में बाढ़ सुखाड़, मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का अधिकारिओं के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे.

बाढ़ व सुखे की समीक्षा करने सुशील मोदी पहुंचे गोपालगंज, कहा- किसी को नहीं होगी परेशानी
गोपालगंज में समीक्षा बैठक करने पहुंचे सुशील मोदी.

गोपालगंजः बिहार के 25 जिलों के 280 प्रखंडो को सूखाग्रस्त घोषित किया गया था. जिसमें गोपालगंज के 14 प्रखंडो को शामिल किया गया था. अब कुल मिलाकर 14 लाख से ज्यादा किसानों के खाते में 925 करोड़ रूपये कृषि इनपुट अनुदान के रूप में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर किया गया है. पहली बार बिहार के सूखाग्रस्त क्षेत्र के किसानों के लिए यह बड़ी राशी अपने बजट से दिया गया है. यह बातें बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गोपालगंज में कही. 

सुशील मोदी सोमवार को गोपालगंज जिला समाहरणालय परिसर में बाढ़ सुखाड़, मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का अधिकारिओं के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे. बैठक संपन्न होने के बाद वे पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे.

मुख्यमंत्री, फसल सहायता योजना के तहत 301 करोड़ रूपये किसानों को खाते में दिया गया है. सूमो ने किसानों से आग्रह किया है प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी पीएम किसान सम्मान योजना एक तहत प्रत्येक साल 6 हजार रूपये यानी पांच साल में 30 हजार उनके खाते में दिया जायेगा. इसके लिए किसानों ने जो आवेदन दिया है. उसमे कई खामियां है. इसलिए किसान आवश्यक कागजात लगाएं ताकि उन्हें राशी का लाभ मिल सके.

उन्होंने कहा की किसान सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है. किसानों को महज 75 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली का सप्लाई किया जायेगा. सुशिल मोदी ने कहा की बिहार की प्रमुख नल जल योजना को भारत सरकार ने स्वीकार कर लिया है. अब इस योजना को पुरे देश में चलाने की योजना है.

बिहार में औसत से कम वर्षा हुई है. इस बार मानसून 21 जून तक आने की संभवाना है. गोपालगंज में बाढ़ की तैयारी पूरी कर ली गयी है. इसबार बाढ़ से गोपालगंज को कोई खतरा नहीं है. हर घर में शौचालय बनाने का कार्य 31 अगस्त तक पूरा कर लिया जायेगा.

इस बैठक में स्थानीय सांसद डॉ अलोक कुमार सुमन, विधायक मिथिलेश तिवारी, एमएलसी आदित्य नारायण पाण्डेय सहित कई विधायक व डीएम एसपी सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे.