close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: आचार संहिता उल्लंघन में पेशी के लिए कैमूर पहुंचे सुशील मोदी, प्रलोभन देने का आरोप

पिछली विधानसभा के हुए चुनाव में सुशील मोदी द्वारा वोटरों को साड़ी और टीवी का प्रलोभन देने का मामला दर्ज हुआ था. इसमें पेशी के लिए सुशील मोदी कैमूर पहुंचे.

बिहार: आचार संहिता उल्लंघन में पेशी के लिए कैमूर पहुंचे सुशील मोदी, प्रलोभन देने का आरोप
पिछली विधानसभा चुनाव के दौरान ये मामला दर्ज हुआ था.

कैमूर: बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कैमूर जिले के व्यवहार न्यायालय, भभुआ में पहुंचे. पिछली विधानसभा के हुए चुनाव में सुशील मोदी द्वारा वोटरों को साड़ी और टीवी का प्रलोभन देने का मामला दर्ज हुआ था. इसमें पेशी के लिए सुशील मोदी कैमूर पहुंचे.

वहीं, सुशील मोदी जी के अधिवक्ता अनुराग पांडे ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सुशील कुमार मोदी के अनुसार 2015 में आनंद भूषण पांडे उर्फ मंटू पांडे जी के चुनावी सभा में प्रलोभन देने का मामला अर्जुन कुमार सिंह ने आवेदन दिया था. इसी के तहत मामले में गरीबों में धोती साड़ी और मेधावी छात्रों में लैपटॉप बांटने के लिए और रंगीन टीवी बांटने का उनके ऊपर आरोप लगाया गया था .

उसी आरोप को लेकर के एफआईआर दर्ज हुआ था. न्यायालय के तरफ से एविडेंस क्लोज हो गया था तो न्यायालय ने उनको पर्सनल अटेंडेंस के लिए आर्डर किया था. उसी आर्डर की वजह से सुशील मोदी आज न्यायालय में आए थे. यहां उनका बयान दर्ज किया गया है. बयान में न्यायालय की तरफ से कुछ प्रश्न पूछे गए थे जिसे सुशील मोदी जी ने सिरे से खारिज किया.

वहीं, कैमूर के पूर्व विधायक रामचंद्र यादव ने सुशील मोदी और बीजेपी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि उप मुख्यमंत्री जी का आज तारीख था. आचार संहिता उल्लंघन मामले में कथनी और करनी में फर्क होता है. तब वो तत्काली विधायक आनंद भूषण पांडे उर्फ मंटू पांडे के प्रचार में आए थे और इस दौरान उन्होंने कहा था कि महादलित के घर में टीवी लगाएंगे. जिसको निर्वाचन आयोग ने मामला दर्ज किया था.

उन्होंने साथ ही कहा कि वो तारीख पर आए थे लेकिन सरकारी कार्यक्रम दिखला करके हेलीकॉप्टर से आए. वो गरीबों का पैसे का दुरुपयोग करके एक तारीख पर आए थे और कितना भारी दुर्भाग्य है इस बिहार प्रदेश के लिए अंधेर नगरी चौपट राजा और नीतीश कुमार और सुशील मोदी के जुगनी जोड़ी है. 

वहीं, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कोर्ट में पेशी था इसलिए कैमूर आए थे. जिले के करकट गढ़, जलप्रपात, और दुर्गावती जलाशय और मां मुंडेश्वरी धाम में 5000 हेक्टेयर भूमि में इको पार्क बनाया जाएगा. करकट गढ़ जलप्रपात को इको टूरिज्म के तहत विकसित किया जाएगा, और वही दुर्गावती जलाशय में टूरिजम के तहत विकास और वोटिंग की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए उसका निरीक्षण किया जाएगा और बहुत जल्द इस पर काम भी शुरू हो जाएगा.