close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अच्छी खबरः क्रय केंद्र पर किसान जितना धान लाएंगे, सब खरीदेगी बिहार सरकार

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आश्वस्त किया कि क्रय केंद्रों पर किसान जितना धान लायेंगे सरकार उसकी खरीद करेगी.

अच्छी खबरः क्रय केंद्र पर किसान जितना धान लाएंगे, सब खरीदेगी बिहार सरकार
क्रय केंद्र पर किसानों का सारा धान सरकार खरीदेगी. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटनाः कैमूर-रोहतास के डेढ़ सौ से ज्यादा पैक्स व व्यापार मंडल अध्यक्षों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आश्वस्त किया कि क्रय केंद्रों पर किसान जितना धान लायेंगे सरकार उसकी खरीद करेगी. धान अधिप्राप्ति के लिए पैक्सों को पहले की तुलना में 3 प्रतिशत कम ब्याज दर पर ऋण तथा पहली बार प्रति क्विंटल धान की खरीद पर 10 रुपये का प्रबंधकीय अनुदान दिया जायेगा. इस दौरान सहकारिता मंत्री राणा रणधीर भी उपस्थित थे.

सुशील मोदी ने बताया कि पिछली बार जिस जिले से जितना धान संग्रह किया गया था उससे कम संग्रह इस साल नहीं किया जायेगा. आवश्यकता पड़ने पर भारत सरकार से बिहार के लिए निर्धारित धान अधिप्राप्ति के कोटा को बढ़ाने का आग्रह किया जायेगा. 

उन्होंने कहा कि जिला सहकारी बैंक पैक्स को किसानों से धान की खरीद के लिए मात्र 8 प्रतिशत की ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करायेगा जो पहले की 11 प्रतिशत की तुलना में 3 प्रतिशत कम होगा. 

राज्य सरकार राज्य सहकारी बैंक को 9 प्रतिशत की जगह 7 प्रतिशत ब्याज दर पर तथा राज्य सहकारी बैंक जिला सहकारी बैंक को 7.25 प्रतिशत की दर पर कर्ज देगा जो पहले की तुलना में 2.25 प्रतिशत सस्ता होगा. पहली बार पैक्सों को प्रबंधकीय अनुदान के तौर पर प्रति क्विंटल धान की खरीद पर 10 रुपये, जिला सहकारी बैंक को 5 रुपये और राज्य सहकारी बैंक को 50 पैसे का अनुदान दिया जायेगा. 

किसान नेता व भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमंडल में दिनारा पैक्स अध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह, मोहनिया अध्यक्ष शत्रुंजय कुमार सुमन, डेढ़गांव अध्यक्ष संजय चौधरी, रंजीत चौधरी, नोखा के पिंटु सिंह, दशरथ चौधरी, विजय सिंह, बिक्रमगंज के धनंजय पांडेय, संजय सिंह, ओमप्रकाश, जवाहर सिंह, शिवसागर व्यापार मंडल अध्यक्ष अजय व विजय चौधरी आदि शामिल थे.