रांची में Swiggy-Zomato ने शुरू की शराब की ‘होम डिलिवरी’, अन्य शहरों में भी होगी पहल

खान-पान ऑर्डर करने और घर पर सामान पहुंचाने की ऑनलाइन सेवाएं देने वाली कंपनियों स्वीगी और जोमैटो ने रांची में शराब की ‘होम डिलिवरी’ की शुरुआत की है. दोनों कंपनियों ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी.

रांची में Swiggy-Zomato ने शुरू की शराब की ‘होम डिलिवरी’, अन्य शहरों में भी होगी पहल
दोनों कंपनियों ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची: खान-पान ऑर्डर करने और घर पर सामान पहुंचाने की ऑनलाइन सेवाएं देने वाली कंपनियों स्वीगी और जोमैटो ने रांची में शराब की ‘होम डिलिवरी’ की शुरुआत की है. दोनों कंपनियों ने बृहस्पतिवार को इसकी जानकारी दी.

उन्होंने कहा कि वे दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन आर्डर’ पूरा करने और उसकी ‘होम डिलिवरी’ के लिये संबंधित राज्य सरकारों से भी बातचीत कर रही है. स्वीगी ने एक बयान में कहा कि रांची में घरों तक शराब की आपूर्ति का काम शुरू हो गया है, राज्य के अन्य शहरों में एक सप्ताह के भीतर यह शुरू हो जाएगा.

बयान के अनुसार कंपनी दूसरे राज्यों में ‘ऑनलाइन आर्डर’ पूरा करने और उसकी ‘होम डिलिवरी’ के लिये संबंधित राज्य सरकारों से बातचीत कर रही है. स्वीगी ने कानून के अनुसार अल्कोहल की सुरक्षित आपूर्ति सुनिश्चित करने को लेकर कदम उठाये हैं. इसमें अनिवार्य रूप से उम्र और उपयोगकर्ता के सत्यापन के उपाय शामिल हैं.

स्वीगी के उपाध्यक्ष (उत्पाद) अनुज राठी ने कहा, ‘‘सुरक्षित और जवाबदेह तरीके से अल्कोहल की घरों तक आपूर्ति के जरिये हम खुदरा दुकानदारों के लिये अतिरिक्त कारोबार सृजित कर सकते हैं. साथ ही शराब की दुकानों पर भीड़-भाड़ की समस्या भी दूर होगी और समाजिक दूरी रखने में भी मदद मिलेगी.’’

इसी तरह की बात करते हुए, जोमैटो ने कहा कि बृहस्पतिवार को यह (शराब की होम डिलिवरी) रांची से शुरू होगी और झारखंड के सात अन्य शहरों में कुछ ही दिन के भीतर इसका विस्तार कर लिया जायेगा.

कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा, "उचित अनुमति और लाइसेंस के साथ, हम झारखंड में शराब की होम डिलिवरी शुरू कर रहे हैं. हमारा मानना है कि प्रौद्योगिकी आधारित होम डिलिवरी का समाधान शराब की जिम्मेदार खपत सुनिश्चित कर सकता है और इसके साथ ही एक विकल्प प्रदान करता है, जो सुरक्षित है और लोगों के बीच आवश्यक परस्पर दूरी को बढ़ावा देता है.’’

उन्होंने कहा कि कंपनी के पास प्रौद्योगिकी और ढांचागत सुविधा है जिससे वह छोटे-छोटे गली-मोहल्ले भी सामानों की आपूर्ति कर सकती है. कंपनी किराना सामानों और कोविड-19 राहत उपायों का दायरा बढ़ाने जैसी पहल के लिये स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रही है.

बयान के अनुसार स्वीगी ने राज्य सरकारों के दिशानिर्देश के अनुसार लाइसेंस और अन्य जरूरी दस्तावाजों का सत्यापन करने के बाद अधिकृत खुदरा दुकानदारों के साथ गठजोड़ किया है.