close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पिटाई नहीं हार्ट अटैक से हुई थी तबरेज अंसारी की मौत, आरोपियों पर से हटा मर्डर चार्ज

पुलिस द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि तबरेज की मौत हार्ट अटैक से हुई थी इसलिए आरोपियों पर हत्या का केस नहीं चलाया गया है और मर्डर केस को ड्रॉप कर दिया गया है. 

 पिटाई नहीं हार्ट अटैक से हुई थी तबरेज अंसारी की मौत, आरोपियों पर से हटा मर्डर चार्ज
तबरेज अंसारी के मॉब लींचिग मामले में सभी 11 आरोपियों पर से हत्या का चार्ज हटा दिया गया है.

सरायकेला: झारखंड  (Jharkhand) पुलिस ने लगभग दो महीने पहले सरायकेला में हुए तबरेज अंसारी (Tabrez Ansari) के मॉब लींचिग मामले में सभी 11 आरोपियों पर से हत्या का चार्ज हटा दिया गया है. तबरेज अंसारी की पत्नी ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराया था. 

पुलिस द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि तबरेज की मौत हार्ट अटैक से हुई थी इसलिए आरोपियों पर हत्या का केस नहीं चलाया गया है और मर्डर केस को ड्रॉप कर दिया गया है. आपको बता दें कि दो महीने पहले सरायकेला-खरसांवा में चोरी के आरोप ने भीड़ ने तबरेज अंसारी की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. पुलिस ने उस समय 11 लोगों पर हत्या का मामला दर्ज किया था. 

वहीं, इस मामले पर बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा ने कहा है कि इन सब बातों में लोगों को वास्तविकता समझनी चाहिए. जो आरोप लगाए जाते हैं उसको छोड़ वास्तविकता समझने की जरूरत है. 

 

वहीं, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा विपक्ष को मौका चाहिए. मॉब लिंचिंग शब्द को सिर्फ विपक्ष ने नहीं बल्कि देश के तथाकथित बुद्धिजीवियों ने ईजाद किया है. वो बीजेपी के प्रति नफरत का वातावरण पैदा करना चाहते हैं. सिर्फ तबरेज नहीं बहुत से मामले को बढ़ा चढ़ा कर प्रचारित किया जाता है. 

वहीं, इस मामले में जेएमएम प्रवक्ता मनोज पांडेय ने कहा है कि यह जांच रिपोर्ट सरासर गलत है. इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से करानी चाहिए. पुलिस कस्टडी में तबरेज की मौत हुई थी और जांच करने वाले भी पुलिस हैं इसलिए यह रिपोर्ट सरासर गलत है.  इस वीडियो को सभी ने देखा था कि भीड़ ने उसकी पिटाई की थी. एक यंग लड़के की मौत हार्ट अटैक से नहीं हो सकती.

उन्होंने कहा है कि पूरी तरह से मामले कि लीपापोती करने की कोशिश की जा रही है. पुलिस के सामने उस युवक की पिटाई हुई थी और भी कई लापरवाही पुलिस प्रशासन के द्वारा किया गया था. समय पर उसका उपचार नहीं किया गया जिस वजह से उसकी मौत हुई है.