बिहार: चौथी बार बढ़ाई गई शिक्षक नियोजन की तारीख, अब इस दिन मिलेगा ज्वाइनिंग लेटर

शिक्षकों की भारी कमी के बीच प्रधानाध्यापक और छात्रों के लिए बुरी खबर ये है कि बिहार सरकार ने कक्षा एक से पांच और छह से आठ तक शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया चौथी बार बढ़ा दी है.

बिहार: चौथी बार बढ़ाई गई शिक्षक नियोजन की तारीख, अब इस दिन मिलेगा ज्वाइनिंग लेटर
बिहार में प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक नियोजन की तारीख बढ़ा दी गई है.

पटना: बिहार में एक बार फिर से प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक नियोजन की तारीख बढ़ा दी गई है. अब ज्वाइनिंग लेटर बांटने की नई तारीख 31 मार्च 2020 है. सरकार के मुताबिक, कई जिलों में रोस्टर क्लियर नहीं होने के कारण शिक्षक नियोजन का शेड्यूल बदला गया है. शिक्षकों की भारी कमी के बीच प्रधानाध्यापक और छात्रों के लिए बुरी खबर ये है कि बिहार सरकार ने कक्षा एक से पांच और छह से आठ तक शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया चौथी बार बढ़ा दी है.

इसके बाद अब शिक्षक नियोजन की आखिरी तारीख 31 मार्च 2019 है. इसकी कोई गारंटी नहीं है कि अगली बार भी शिक्षक नियोजन का शेड्यूल नहीं बढ़ेगा. स्कूलों के हेडमास्टर का कहना है कि किसी तरह छात्रों को पढ़ाया जा रहा है, लेकिन आगे शिक्षकों की कमी के चलते पढ़ाने में मुश्किल है. बता दें कि प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक नियोजन में हो रही देरी के कई कारण हैं. पहला प्रारंभिक स्कूलों में अब भी नियोजन के लिए ऑनलाइन फॉर्म नहीं लिए जा रहे हैं.

दूसरी तरफ बिहार में नगर निगम, जिला परिषद/पंचायत, प्रखंड स्तर पर कुल 8500 नियोजन इकाइयां पूरी प्रक्रिया में शामिल होती है. वहीं, तीसरा कारण बाढ़ और लगातार पर्व होने के कारण भी समय से नियोजन नहीं होने की वजह बताई जा रही है.अब सवाल उठता है कि बिहार में नियोजन कैसे होता है. बिहार में नियोजन तीन स्तरों पर होता है. 

राज्य में इस वक्त 8500 नियोजन इकाई हैं, यानि सभी 8500 जगहों पर बहाली होगी. नियोजन इकाई आरक्षण, नंबर के हिसाब से मेरिट लिस्ट तैयार करती हैं. यहां भी नंबर तीन स्तरों पर तय होता है. मैट्रिक, इंटर और ट्रेनिंग की परीक्षा (डीएलएड और बीएड) में आए नंबरों के आधार पर मार्क्स तैयार किया जाता है और पूरी प्रक्रिया के बाद अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र बांटा जाता है. फिलहाल आवेदन भरने की तारीख 23 नवंबर समाप्त हो चुकी है.
 

 -बिहार के प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक नियोजन का नया शेड्यूल-

  • आवेदन पत्र प्राप्ति की अंतिम तारीख- 23 नवंबर,2019
  • मेधा सूची की तैयारी- 5 दिसंबर, 2019
  • मेधा सूची का नियोजन समिति की तरफ से अनुमोदन-11 दिसंबर, 2019
  • मेधा सूची का प्रकाशन-6 दिसंबर,2019
  • मेधा सूची पर आपत्ति- 2 जनवरी 2020 से 17 जनवरी 2020
  • आपत्तियों का निराकरण- 21 जनवरी 2020
  • मेधा सूची का अंतिम प्रकाशन- 25 जनवरी 2020
  • जिला की तरफ से पंचायत, प्रखंड की मेधा
  • सूची का अनुमोदन- 24 फरवरी 2020
  • नियोजन इकाई की तरफ से मेधा सूची का सार्वजनीकरण 29 फरवरी 2020
  • चयनित अभ्यर्थियों की जांच और नियुक्ति पत्र जारी-31 मार्च 2020