close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नवंबर तक बिहार में शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया होगी पूरी, लाखों अभ्यर्थियों को मिलेगा मौका

विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में लगभग एक लाख 11 हजार शिक्षकों की बहाली की जाएगी. जिसमें टीईटी और एसटीईटी पास छात्रों को तरजीह दी जाएगी. 

 नवंबर तक बिहार में शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया होगी पूरी, लाखों अभ्यर्थियों को मिलेगा मौका
30 नवम्बर से 7 दिसम्बर के बीच प्रमाण पत्रों का मिलान होगा. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में शिक्षक नियुक्ति का इंतज़ार कर रहे शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है कि नवंबर महीने तक नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी. इस बात की जानकारी शिक्षा मंत्री केएन वर्मा ने विधानसभा में दी है. हालांकि कितने सीटों पर शिक्षकों की बहाली होगी बिहार के शिक्षा मंत्री को इसकी जानकारी नहीं है. 

विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में लगभग एक लाख 11 हजार शिक्षकों की बहाली की जाएगी. जिसमें टीईटी और एसटीईटी पास छात्रों को तरजीह दी जाएगी. शिक्षा विभाग के इस फैसले से साल 2011 और 12 में पास टीईटी छात्रों को भी फायदा होगा. विभाग ने इनके प्रमाण पत्रों की वैधता 2 सालों तक बढ़ा दी है. 

नियोजन में 2012 और 2017 में टीईटी उत्तीर्ण 1 लाख 11 हजार अभ्यर्थियों को मौका मिलेगा. शिक्षा विभाग ने 2012 में टीईटी उत्तीर्ण 65 हजार 984 अभ्यर्थियों की वैद्यता 14 मई 2021 तक बढ़ा दी है. नियोजन के लिए शिक्षकों के पदों की गणना प्राथमिक कक्षाओं के वर्ग एक से पांच और उच्च प्राथमिक कक्षाओं में 6 से 8 तक के लिए होगी. 

प्रारंभिक स्कूलों के लिए पंचायत शिक्षक, प्रखंड शिक्षक, नगर पंचायत, नगर परिषद व नगर निगम शिक्षक की बहाली होगी. पंचायत व प्रखंड सहित विभिन्न प्रारंभिक नियोजन इकाइयों के माध्यम से बहाली की प्रकिया 25 जुलाई से शुरू होगी. 

शिक्षा विभाग की तैयारियों के मुताबिक 26 अगस्त से 25 सितम्बर तक अभ्यर्थी नियोजन इकाइयों में आवेदन कर सकेंगे. मेधा सूची 26 सितम्बर से बननी शुरू होगी. 21 अक्टूबर को मेधा सूची का प्रकाशन किया जाएगा. फिर इसपर आपत्तियां मांगी जाएंगी और उनका निराकरण 11 नवम्बर तक होगा. अंतिम रूप से तीन दिन बाद मेधा सूची प्रकाशित की जाएगी. 

30 नवम्बर से 7 दिसम्बर के बीच प्रमाण पत्रों का मिलान होगा और चयन सूची बनाई जाएगी. नियोजन इकाइयां 9 से 12 दिसम्बर के बीच नियोजन पत्र वितरित करेंगी. नियमावली के मुताबिक 50 फीसदी सीटों पर महिलाओं का नियोजन होगा. महिला अभ्यर्थी नहीं मिलने पर यह पद रिक्त रहेंगे. नियोजन में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आरक्षण रोस्टर का पालन किया जाएगा. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को पहली बार 10 फीसदी आरक्षण का लाभ मिलेगा.

  सरकार की ओर से शिक्षक नियुक्ति को लेकर की गई तैयारियों पर विपक्ष ने हमला बोला है. आरजेडी नेता अब्दुलबारी सिद्दीकि को सरकार के आश्वासन और तैयारियों पर भरोसा नही है. सिद्दीकि ने कहा है कि बीते 10 सालों में सरकार ने कुछ किया नही अब क्या कर लेगी. मंत्री ने जो तय समय सीमा दी है उसके बाद उनके घोषणा की समीक्षा मीडिया को भी करनी चाहिए. सिद्दीकि ने तो यहां तक कह दिया कि जिन स्कूलों में शिक्षक नही है सरकार को स्कूल में ताला लगा देना चाहिए.