close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तेजस्वी यादव का बड़ा बयान- नीतीश कुमार ने RSS-BJP को बिहार में बढ़ाने में मदद की

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार में बीजेपी और आरएसएस को पांव जमाने में मदद की है और सत्ता के लिए धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद के साथ छल किया है.

तेजस्वी यादव का बड़ा बयान-  नीतीश कुमार ने RSS-BJP को बिहार में बढ़ाने में मदद की
तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

पटना: आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार में बीजेपी और आरएसएस को पांव जमाने में मदद की है और सत्ता के लिए धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद के साथ छल किया है.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा है कि नीतीश जी ने ना सिर्फ हमारे साथ विश्वासघात किया बल्कि उन मूल सिद्धांतों का भी त्याग कर दिया जिस पर धर्मनिरपेक्ष- समाजवादी राजनीति टिकी हुई है. केवल हम नहीं बल्कि वे लोग भी जो प्रगतिशील राजनीति में यकीन रखते हैं, वे गिरगिट जैसे रंग बदलने वाले व्यक्ति को अपनाने को अनिच्छुक है. 

उन्होंने आगे लिखा है की हमारी समावेशी राजनीति के लिए धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद एक जीवनपर्यन्त प्रतिबद्धता है लेकिन नीतीश जी ने कुर्सी के लिए सदा इस विचार के साथ छल किया है. नीतीश जी ने बिहार मे आरएसएस/बीजेपी को बढ़ाने में मदद कर धर्मनिरपेक्ष और समाजवादी राजनीति को जोखिम में डाल दिया.

तेजस्वी यादव के इस ट्वीट के बाद जेडीयू-बीजेपी ने पलटवार किया है. बीजेपी प्रवक्ता नवल यादव ने कहा कि हर कोई अपना चेहरा चमकाता है और तेजस्वी का ट्रैक रिकॉर्ड है कि वो अपने परिवार के लोगों को चमकाने के लिए राजनीति करतें हैं. आरजेडी बस एक परिवार की पार्टी है.

इस ट्वीट के बाद जहां एनडीए के सहयोगी दल यहां तेजस्वी पर निशाना साध रहे हैं, वहीं महागठबंधन के सहयोगी उनके समर्थन में उतर आया है. कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने तेजस्वी यादव का बयान का समर्थन करते हुए कहा की कुर्सी के लिए एनडीए से नीतीश कुमार बाहर आए थे और फिर कुर्सी के नाम पर आरएसएस की गोद में चले गए. 

उन्होंने नीतीश कुमार पर बिहार में आरएसएस को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है. वहीं, सुशील मोदी को भी निशाने पर लिया. बाढ़ के हालातों पर प्रतिक्रिया न देने को लेकर सवाल उठाए और कहा की सुशील मोदी के चाल चेहरा और चरित्र में काफी अंतर है.

लगातार राजनीतिक दलों की तरफ से वार-पलटवार जारी है. वहीं तेजस्वी के ट्वीट के बाद इस मु्ददे पर सियासत थमती नजर नहीं आ रही है.