तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, बोले- बयान नहीं गरीबों को राशन चाहिए

उन्होंने कहा कि सिर्फ़ घोषणा करने से हम इस बीमारी से नहीं लड़ सकते, उनको अक्षरशः लागू भी करना होगा.‬‪ मैं सरकार से जानना चाहूंगा कि अभी तक बिहार में कुल कितनी पंचायतों, गांवों, नगर निकायों का सैनिटाइजेशन हुआ है, यह आंकड़ा बताएं.

तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, बोले- बयान नहीं गरीबों को राशन चाहिए
तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा निशाना, बोले- बयान नहीं गरीबों का राशन चाहिए. (File Photo)

पटना: कोरोना को लेकर तेजस्वी यादव लगातार सरकार से और लोगों से अपील करते नजर आ रहे हैं. हाल ही में तेजस्वी ने एक बार फिर से मीडिया में बयान जारी करते हुए कहा कि कोरोना को फैले 70 दिन से अधिक हो गए हैं. नेता प्रतिपक्ष के नाते मैं मुख्यमंत्री से आग्रहपूर्वक जानना चाहूंगा कि अभी तक रोकथाम के लिए सरकार द्वारा क्या-क्या कदम उठाये गये हैं? 

उन्होंने कहा कि सिर्फ़ घोषणा करने से हम इस बीमारी से नहीं लड़ सकते, उनको अक्षरशः लागू भी करना होगा.‬‪ मैं सरकार से जानना चाहूंगा कि अभी तक बिहार में कुल कितनी पंचायतों, गांवों, नगर निकायों का सैनिटाइजेशन हुआ है, यह आंकड़ा बताएं.

इसके साथ ही तेजस्वी ने कहा कि ‬आदर्श रूप से सभी गांव/टोला/मोहल्ला/क़स्बा का प्रत्येक सप्ताह दो बार छिड़काव/सफ़ाई होना चाहिए.‬ जिन देशों/राज्यों ने इस महामारी को रोकने में सफलता पाई है अगर उनका मॉडल देखें तो मास्क और सैनिटाइज़र के उपयोग का अहम रोल है.

तेजस्वी ने नीतीश सरकार से सवाल करते हुए कहा कि बिहार सरकार अब तक इनका जनता में वितरण क्यों नहीं कर पायी है? इनके उत्पादन के लिए क्या कदम उठाए गए हैं? बिहार की जनसंख्या अनुपात में अब तक कितनी प्रतिशत कोरोना जांच हुई है और कितनी जांच करवाना सरकार का लक्ष्य है? सरकारी आंकड़ों के अनुसार कल तक लगभग 13 करोड़ बिहारवासियों में से मात्र 5457 लोगों की ही जांच हुई है.

तेजस्वी यादव ने कहा कि टेस्टिंग किट, पीपीई किट, वेंटिलेटर का स्टॉक क्या है?‬ पुलिसकर्मियों को PPE इत्यादि आवश्यक उपकरण कब तक मिलेंगे? लॉकडाउन के संभावित विस्तार के मद्देनज़र प्रदेश से बाहर फंसे हुए हमारे मजदूर भाईयों के जीवन-यापन के लिए सरकार की क्या वृहद योजना है?

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जिन जरूरतमंदो का किसी कारणवश राशन कार्ड नहीं बन पाया या लंबित है उनको राशन देने के लिए सरकार क्यों नहीं अस्थायी प्रबन्ध कर रही है?‬ क्या राशन कार्ड बनवाने के लिए दिए गए आवेदकों को लाभ नहीं मिलना चाहिए? 

नीतीश सरकार ने लाभुकों को सरकार द्वारा घोषित राशन क्यों नहीं मिल रहा? डीलरों द्वारा दाल का वितरण क्यों नहीं हो रहा?‬

अभी तक जो वस्तुस्थिति हम सभी के सामने है उससे प्रतीत होता है कि राज्य सरकार बग़ैर किसी क्रियान्वयन योजना के आनन-फ़ानन में राहत सम्बंधित कोई भी घोषणा कर सिर्फ़ सुर्खियां बटोरना चाहती है. 

तेजस्वी ने सख्त रवैया अपनाते हुए कहा कि इस विपदा की घड़ी में ग़रीबों को बयान नहीं राशन चाहिए. जब तक समर्पित होकर समग्र योजना के साथ इस लड़ाई को नहीं लड़ेंगे, तब तक हम कोरोना को नहीं हरा सकते.