तेजस्वी का एक बार फिर दिखा आक्रामक अंदाज, कोरोना को लेकर बिहार सरकार पर बरसे

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर कोरोना को लेकर एक बार फिर जमकर निशाना साधा है. 

तेजस्वी का एक बार फिर दिखा आक्रामक अंदाज, कोरोना को लेकर बिहार सरकार पर बरसे
तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर निशाना साधा है.

पटना: बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर कोरोना को लेकर एक बार फिर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि पिछले 5 महीनों से बिहार सरकार की उदासीनता, लापरवाही के कारण बिहार में कोरोना महामारी विकराल रूप लेती जा रही है और स्थिति विस्फोटक होने की संभावना. स्वास्थ्य विशेषज्ञ अनुमान लगा रहे है कि बिहार में आगामी 2-3 महीनों में लाखों लोगों को संक्रमित होने का ख़तरा है. 

उन्होंने कहा कि देश के सर्वोच्च न्यायालय में सुप्रीम कोर्ट ने बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर बिहार सरकार को कई बार फटकार लगाई है. केंद्र से आई तीन सदस्यीय टीम ने बिहार सरकार की सारी पोल खोल दी.  कोरोना से लड़ने के लिए बिहार सरकार ने कोई प्रबंधन नहीं किया चाहे प्रवासी मजदूरों का मसला हो या बदहाल स्वास्थ्य अधिसंरचना के मुद्दे सरकार ने पहलकदमी लेने और त्वरित कारवाई और उपाय करने की बजाय सबकुछ भगवान भरोसे छोड़ दिया.

उन्होंने बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर निशाना साधते हुए कहा कि आम लोगों में इस महामारी की चिंताओं के बावजूद कोई नए अस्पताल नहीं बने.  पूरा देश इस बात को समझ पाने में असमर्थ है कि 5 महीनों बाद भी बिहार में जांच के नाम पर खानापूर्ति क्यों हो रही है? हमने मार्च के महीने से ही सरकार से विनती की और सकारात्मक सुझावों से आगाह करते रहे की जन स्वास्थ्य को प्राथमिकता दें,राजनीति किसी और दिन कर लेंगे लेकिन इस सरकार के कानों तक जूं भी नहीं रेंगी. उलटे हमारे सुझावों और सलाह पर नकारात्मक टिपण्णी की गयी.

आपको बता दें कि बिहार में कोरोना के मामले 70 हजार पार कर चुके हैं. बिहार में पिछले दिनों से टेस्ट की संख्या बढ़ाई है तो मरीज भी अधिक संख्या में मिल रहे हैं. आलम यह है कि सिर्फ शनिवार को कोरोना के लगभग चार हजार मरीज मिले हैं. 

वहीं, दूसरी ओर बिहार में कोरोना को लेकर राजनीति चरम पर है. तेजस्वी यादव बिहार सरकार पर लगातार हमलावर है और बेहद आक्रामक नजर आ रहे हैं.