तेजस्वी ने PM पर साधा निशाना, कहा- बिहार को कब देंगे विशेष राज्य का दर्जा?

सीएम नीतीश कुमार इन युवाओं को ब्लैक एंड व्हाइट टीवी दिखाना चाहते हैं तो हम इन्हें LED टीवी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के दौर में ले जाने की बात कर रहे हैं.

तेजस्वी ने PM पर साधा निशाना, कहा- बिहार को कब देंगे विशेष राज्य का दर्जा?
तेजस्वी ने PM पर साधा निशाना, कहा- बिहार को कब देंगे विशेष राज्य का दर्जा?

पटना: बिहार के आरजेडी कार्यालय में तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि एक तरफ हम अकेले हैं तो दूसरी तरफ 70 वर्ष के नीतीश कुमार और पीएम नरेंद्र मोदी हैं. हम युवा की बात कर रहे हैं. 

सीएम नीतीश कुमार इन युवाओं को ब्लैक एंड व्हाइट टीवी दिखाना चाहते हैं तो हम इन्हें LED टीवी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के दौर में ले जाने की बात कर रहे हैं.

तेजस्वी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्यसभा सांसद मनोज झा और पार्टी के नेता श्याम रजक भी मौजूद थे. तेजस्वी ने सवालिया लहजे में कहा कि 2015 के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार दौरे पर नीतीश कुमार के किए गए 35 घोटले गिनाने का काम किया तो अब हम बता दें कि उसमें 25 और नए घोटाले जुड़ गए हैं. प्रधानमंत्री को अब वह भी बताना चाहिए.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीति आयोग के अध्यक्ष हैं. लेकिन बिहार सबसे फिसड्डी राज्यों में क्यों शामिल हो गया है, इस पर उन्होंने कुछ नहीं बोला. बिहार को विशेष राज्य का दर्जा कब मिलेगा, इस पर भी कुछ नहीं कहा. 

तेजस्वी ने यह भी कहा कि बिहार को मित्र बताने वाले पीएम मोदी 19 लाख रोजगार अब देने के बात कर रहे हैं. जबकि हमने पहले ही कह दिया है कि हमारी सरकार बनी तो पहले ही कैबिनेट में 10 लाख रोजगार दिए जाएंगे. बीजेपी अब भी रोजगार पैदा करने की बात कह रही है देने की नहीं.

बीजेपी की सरकार जिस राज्य में है, वहां 5 सालों में 5 लाख नौकरी तक नहीं दी गई है. अगर दी गई है तो पीएम हमें बताएं. उन्होंने कहा कि 6 वर्ष में केंद्र ने पीएम मोदी के नेतृत्व में 6 लाख नौकरी भी बमुश्किल दी है. जब यूपीए की सरकार थी तो 1,44,000 करोड़ का पैकज दिया गया था और लोगों को नौकरी दी गई थी.

उन्होंने कहा कि बिहार में बाढ़ की समस्या पर भी पीएम ने कुछ नहीं कहा. तेजस्वी ने कहा कि मेरी सरकार बनेगी तो जितनी चीनी मिल, जुट मिल, पेपर मिल बंद पड़ी हुई हैं, उसे चालू करायेंगे. उम्मीद है कि पीएम नीतीश कुमार से जरूर पूछेंगे कि 15 साल में क्या किये कि आज बेरोजगारी याद आ रहा है.