विधानसभा में तेजस्वी ने सरकार को घेरा, बोले- महाराष्ट्र का मामला बिहार से अलग नहीं

 तेजस्वी यादव ने कांग्रेस के नेताओं पर किए गए लाठीचार्ज पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज की हम निंदा करते हैं, मेमोरेंडम की जगह कोतवाली ले गए. सरकार को अपनी कमियों को देखना चाहिए. 

विधानसभा में तेजस्वी ने सरकार को घेरा, बोले- महाराष्ट्र का मामला बिहार से अलग नहीं
तेजस्वी यादव ने विधानसभा में कई मुद्दों पर अपनी राय रखी.

पटना: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा में कई मुद्दों पर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि विधानसभा का सत्र काफी छोटा है और मुद्दे बहुत ही ज्यादा हैं. जबसे एनडीए की सरकार बनी है कई मुद्दे सामने आए हैं. 

चमकी और जलजमाव समेत कई मामले हैं. शिक्षकों का मामला भी सामने आय है. हम जनता के मामलों को उठाने का काम कर रहे हैं. सरकार तानाशाही रवैया अपनाकर आवाज दबा रही है. 

साथ ही तेजस्वी यादव ने कांग्रेस के नेताओं पर किए गए लाठीचार्ज पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज की हम निंदा करते हैं, मेमोरेंडम की जगह कोतवाली ले गए. सरकार को अपनी कमियों को देखना चाहिए. 
साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा कि विधानसभा में नौकरी के लिए 5.50 लाख आवेदन आए हैं. एम.टेक करनेवाले चपरासी का फार्म भर रहे हैं. ये आंकड़ा बेरोजगारी को दिखाता है.सरकार जनता, गरीबों और नौजवानों की समस्या का समाधान नहीं कर सकी.

साथ ही महाराष्ट्र की राजनीति पर तेजस्वी यादव ने कहा है कि महाराष्ट्र का मामला बिहार से अलग नहीं है. रात में दो बजे तक हमलोग मार्च करते रहे. अगर समझौता कर लेते तो अच्छा रहता लेकिन बिहार की जनता ने उपचुनाव में जवाब दे दिया. महाराष्ट्र में लोकतंत्र का मजाक उड़ाया जा रहा है.

विधानसभा अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि हमारा माइक बंद कर दिया जाता जबकि मंत्रियों का माइक ऑन रहता है. जब विधानसभा अध्यक्ष इशारा करते हैं तब शुरू किया जाता है.