close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लखनऊ में तेजस्वी यादव बोले- मोदी जी को हराने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन ही काफी

गठबंधन में कांग्रेस के नहीं शामिल होने पर तेजस्वी यादव ने कहा कि मोदी जी को हराने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन ही काफी है.

लखनऊ में तेजस्वी यादव बोले- मोदी जी को हराने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन ही काफी
लखनऊ में अखिलेश यादव से मिले तेजस्वी यादव. (तस्वीर- ANI)

लखनऊ/पटना : उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के बीच सियासी गठजोड़ की घोषणा के अगले ही दिन राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और राजनीतिक वारिस तेजस्वी यादव, मायावती और अखिलेश यादव से मिलने के लिए लखनऊ पहुंचे. इस दौरान वह सबसे पहले मायावती से मिले वहीं, आज उन्हेंनो सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की. मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए दोनों ही नेता सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर मजकर बरसे.

सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस के नहीं शामिल होने पर तेजस्वी यादव ने कहा, 'मोदी जी को हराने के लिए सपा-बसपा का गठबंधन ही काफी है. गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में इसकी झलक देखने को मिली थी. उन्होंने कहा कि आप कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान को भी देख सकते हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि बीजेपी यूपी में एक भी सीट नहीं जीत रही है. गठबंधन में कौन रहता है यह महत्वपूर्ण नहीं है.

मीडिया को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा सीबीआई और ईडी अब सरकारी संस्था नहीं रही, अब ये बीजेपी के सहयोगी की तरह काम कर रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि लालू यादव आज इसी वजह से जेल में हैं, क्योंकि वह पीएम मोदी उन्हें अपना दुश्मन मानते हैं.

तेजस्वी यादव ने इस गठबंधन के लिए मायावती और अखिलेश यादव को बधाई भी दी. उन्होंने कहा कि यह गठबंधन राष्ट्रहित में बना है. साथ ही उनका कहना था कि देश की जैसी परिस्थिति है वैसे में यह गठबंधन जरूरी था.

इससे पहले बीएसपी सुप्रीमो से उनके आवास पर मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा था कि इस गठबंधन के बनने के बाद भारतीय जनता पार्टी का पूरे उत्तर प्रदेश में सफाया हो जाएगा और वे कभी सत्ता में वापस नहीं आ पाएंगे. 

तेजस्वी ने आरोप लगाया था कि बीजेपी बाबा साहेब आंबेडकर के बनाए संविधान को खत्म कर नागपुर का कानून लागू करने में जुटी है. जनता मायावती और अखिलेश की दोस्ती का स्वागत कर रही है. बिहार और उत्तर प्रदेश से बीजेपी का सफाया हो जाएगा. उत्तर प्रदेश में बीजेपी एक भी सीट नहीं जीतेगी. सभी सीटों पर सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशी जीतेंगे.

तेजस्वी यादव ने कहा कि मेरे पिता ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान ही सपा और बसपा को एक साथ मिलकर लड़ने की नसीहत दी थी. उन्हें उम्मीद थी कि अगर उस वक्त ऐसा होता तो तभी उत्तर प्रदेश से बीजेपी का सफाया हो गया होता. हालांकि अभी भी लालू यादव इस सपा-बसपा के गठबंधन से काफी खुश हैं. आरजेडी नेता ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने देश में अघोषित इमरजेंसी लागू कर रखा है.