बिहार: तेजस्वी यादव ने BJP पर साधा निशाना, 'कहा-पार्टी को हमने 1000 किलोमीटर हिला दिया'

विधानसभा में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर लागू नहीं किए जाने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किए जाने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर जोरदार निशाना साधा है.

बिहार: तेजस्वी यादव ने BJP पर साधा निशाना, 'कहा-पार्टी को हमने 1000 किलोमीटर हिला दिया'
बिहार विधानसभा में नेता विपक्ष हैं तेजस्वी यादव. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार विधानसभा में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) लागू नहीं किए जाने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किए जाने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर जोरदार निशाना साधा है. तेजस्वी ने कहा कि 'बीजेपी को हमने 1000 किलोमीटर हिला दिया.'

तेजस्वी ने एनआरसी लागू नहीं किए जाने का प्रस्ताव पारित हो जाने के बाद ट्वीट किया, 'बिहार में एनआरसी और एनपीआर (NPR) लागू नहीं करने की हमारी मांग पर आज विधानसभा में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कराया गया. एनआरसी और एनपीआर पर एक इंच भी नहीं हिलने वाली बीजेपी को आज हमने 1000 किलोमीटर हिला दिया. बीजेपी वाले माथा पकड़े टुकुर-टुकुर देखते रह गए. संविधान को मानने वाले हम लोग सीएए (CAA) भी लागू नहीं होने देंगे.'

इस बीच, तेजस्वी ने पत्रकारों से बात करते हुए आरजेडी और सहयोगी दलों के सभी साथियों को बधाई और धन्यवाद दिया जो विरोध करने में साथ दे रहे थे. उन्होंने कहा कि आरजेडी ने जनता की आवाज बनकर इस मुद्दे को लेकर सड़क से सदन तक लड़ाई करती रही. इसी का परिणाम है कि सत्तापक्ष आज घुटने टेकने को विवश हुआ. आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव (Lalu Yadav) के बड़े बेटे और राज्य के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने भी इस मामले को लेकर बीजेपी पर सियासी हमला बोला.

तेजप्रताप ने ट्वीट कर कहा, 'एनआरसी और एनपीआर के मुद्दे पर तनिक भी टसकने को नहीं तैयार बीजेपी को आज हमने हार्ट-अटैक का पहला झटका दिया. बिहार में एनआरसी और एनपीआर नहीं लागू करने की हमारी पार्टी की मांग पर आज विधानसभा में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया. सीएए को नहीं लागू होने देने की लड़ाई भी जारी रहेगी.'

बिहार विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को बिहार में एनआरसी लागू नहीं करने तथा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को एक संशोधन के साथ 2010 के प्रारूप में लागू करने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित किया गया.

(इनपुट-आईएएनएस)