पटना:तेजप्रताप यादव लालटेन छोड़ एलईडी बल्ब से चमकाएंगे अपनी राजनीति, करेंगे कुछ ऐसा

लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप के अंदाज की चर्चा चारों ओर हो रही है. कभी वो दरी पर बैठकर जनता दरबार लगाते हैं तो कभी महिला की समस्या के समाधान के लिए थाने में जाकर धरने पर बैठ जाते हैं.

पटना:तेजप्रताप यादव लालटेन छोड़ एलईडी बल्ब से चमकाएंगे अपनी राजनीति, करेंगे कुछ ऐसा
तेजप्रताप का कहना है कि लालटेन की रोशनी गरीबों तक ठीक से नहीं पहुंच पा रही है. (फाइल फोटो)

रूपेन्द्र श्रीवास्तव,पटना: लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप के अंदाज की चर्चा चारों ओर हो रही है. कभी वो दरी पर बैठकर जनता दरबार लगाते हैं तो कभी महिला की समस्या के समाधान के लिए थाने में जाकर धरने पर बैठ जाते हैं. इसी तरह नए साल में 15 जनवरी को तेजप्रताप यादव एलईडी बल्ब बाटेंगे  

लालू यादव ने जब आरजेडी बनाया तो चुनाव चिन्ह लालटेन रखा क्योंकि लालू यादव की सोच थी कि लालटेन सभी घरों में रहता है और चुनाव चिह्न जनता की नजरों में रहे. लेकिन तेजप्रताप यादव अब एलईडी के भरोसे अपनी राजनीति चमकाएंगे. तेजप्रताप का कहना है कि लालटेन की रोशनी गरीबों तक ठीक से नहीं पहुंच पा रही है, इसलिए उन्हें एलईडी बल्ब की जरुरत है.

तेज प्रताप

उन्होंने कहा कि एलईडी बल्ब की रोशनी में गरीब और पिछड़े वर्ग के बच्चे अच्छे से पढ़ाई कर सकेंगे. नई तकनीक का जमाना है अब इनको अपनाने की जरुरत है. 15 जनवरी को तेजप्रताप यादव मुफ्त में एलईडी बल्ब बांटेंगे. उन्होंने कहा कि यह सरकार इसमें पूरी तरह फेल हो गई है. नीतीश कुमार नहीं चाहते हैं कि गरीबों के बच्चे पढ़ें लेकिन अब आरजेडी घरों में रोशनी पहुंचाएगी और विरोधी धराशायी हो जाएंगे.  

तेजप्रताप को सुजीत परमार यह एलईडी बल्ब मुहैया करा रहे हैं. सुजीत परमार आरजेडी में करीब 20 सालों से है और परमार की माने तो उनकी यह ख्वाहिश है कि उनके कंपनी से निकला हुआ बल्ब पहले गरीबों तक पहुंचे.