बिहार: मेहंदी के रंग फीके भी नहीं हुए कि कुमारी मौसम का उजड़ गया सुहाग

बहन की विदाई के साथ उसका भाई भी बहन के घर इसुआपुर आया था. जिसे वापस उसके घर नगमा पहुंचाने मंगलवार को जीजा गणेश दहेज में मिली अपाची बाइक से पहली बार ससुराल गया था. 

बिहार: मेहंदी के रंग फीके भी नहीं हुए कि कुमारी मौसम का उजड़ गया सुहाग
बिहार: मेहंदी के रंग फीके भी नहीं हुए कि कुमारी मौसम का उजड़ गया सुहाग. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

छपरा: मेहंदी के रंग अभी फीके भी नहीं हुए थे कि कुमारी मौसम का सुहाग उजड़ गया. वैशाली जिले के बेलसर थाना क्षेत्र के नगवा गांव के लाल बाबू गोस्वामी की पुत्री मौसम की शादी दो दिन पूर्व 28 जून को इसुआपुर गांव के अमरनाथ गोस्वामी के पुत्र गणेश गोस्वामी के साथ हुई थी. 

बहन की विदाई के साथ उसका भाई भी बहन के घर इसुआपुर आया था. जिसे वापस उसके घर नगमा पहुंचाने मंगलवार को जीजा गणेश दहेज में मिली अपाची बाइक से पहली बार ससुराल गया था. 

जहां से साले को छोड़कर वापस अपने घर इसुआपुर आ रहा था कि दिन के करीब एक बजे सरैया थाना के पास एक अनियंत्रित ट्रक की चपेट में आ गया. घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई. 

घटना की सूचना वहां की स्थानीय पुलिस ने घरवालों को दी, जिसके बाद घर में कोहराम मचा हुआ है. जेडीयू के प्रदेश सचिव शैलेंद्र प्रताप सिंह की पहल पर सरैया थाना की पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए मुजफ्फरपुर भेज दिया है. 

वहीं परिजन भी मृतक के पास पहुंच गए हैं. समाचार प्रेषण तक घटना की सूचना दुल्हन को नहीं दी गई है.