बिहार: धान की खरीद-बिक्री का मुद्दा गर्माया, RJD ने साधा निशाना तो JDU ने किया पलटवार

सरकार आंकड़ों की बाजीगरी कर खरीद का दावा कर रही है. अभी तक 4 हजार पैक्सों को खरीद के लिए चयनित किया गया. धान का एमएसपी 1868 तय किया गया, किसानों को मूल्य नहीं मिल रहा. 

बिहार: धान की खरीद-बिक्री का मुद्दा गर्माया, RJD ने साधा निशाना तो JDU ने किया पलटवार
धान का एमएसपी 1868 तय किया गया, किसानों को मूल्य नहीं मिल रहा. (फाइल फोटो)

पटना: आरजेडी (RJD) एमएलसी और बिस्कोमॉन के अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा है कि धान खरीद अभी तक पूरे राज्य में शुरू नहीं हो सकी. सरकार आंकड़ों की बाजीगरी कर खरीद का दावा कर रही है. अभी तक 4 हजार पैक्सों को खरीद के लिए चयनित किया गया. धान का एमएसपी 1868 तय किया गया, किसानों को मूल्य नहीं मिल रहा. 

उन्होंने कहा है कि 12 रुपये क्विंटल में धान बेच रहे हैं राज्य के किसान. सरकार का कोई नुमाइंदा चले, हम 12 सौ रुपये में धान दिलवा देंगे. राज्य के किसानों को एमएसपी न मिल रही, न मिलने की संभावना है. मुख्यमंत्री 30 लाख टन धान खरीद की बात कर रहे, कैसे होगा?

वहीं, धान खरीद पर आरजेडी के आरोप को जेडीयू नेता ललन पासवान ने खारिज किया है. पूर्व विधायक ने कहा है कि आरजेडी के पास कोई मुद्दा नहीं रह गया. हमारी सरकार ने ही धान खरीद की शुरुआत की. अभी तो धान की कटनी शुरू हुई है, खरीद भी शुरू हो गई. सरकार एमएसपी पर धान खरीद के लिए प्रतिबद्ध है. 

साथ ही उन्होंने कहा कि शहाबाद का इलाका धान की फसल में सबसे आगे है. राज्य के किसानों के हित में सरकार काम कर रही है. धान खरीद की समस्या किसी एक इलाके की हो सकती है. पूरे बिहार में पैक्स के जरिये धान की खरीद हो रही है. कृषि कानून को लेकर जो विरोध हो रहा, उस पर बात होनी चाहिये. सरकार की ओर से पक्ष रखा जा रहा है, किसानों को सुनना चाहिए.