close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बारिश-जलजमाव के दिख रहे साइड इफेक्ट, आसमान छू रहे पटना में सब्जियों के दाम

बिहार के लोगों पर अब महंगाई की मार पड़ी है. हरी सब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं, जिसके चलते लोगों की रसोई का बजट पूरी तरह से बिगड़ चुका है. 

बिहार: बारिश-जलजमाव के दिख रहे साइड इफेक्ट, आसमान छू रहे पटना में सब्जियों के दाम
पटना में बाजारों में बीते 15 दिनों में हरी सब्जियों के दाम दोगुने हो गए हैं.

पटना: भारी बारिश और बाढ़ को झेलने के बाद बिहार के लोगों पर अब महंगाई की मार पड़ी है. खासकर राजधानी पटना में हरी सब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं, जिसके चलते लोगों की रसोई का बजट पूरी तरह से बिगड़ चुका है. फुटकर बाजारों में बीते 15 दिनों में हरी सब्जियों के दाम दोगुने हो गए हैं. वहीं प्याज की कीमत बढ़ने से एकबार फिर आम आदमी की आंखों से आंसू निकल आए हैं. 

न सिर्फ प्याज बल्कि अब टमाटर भी काफी महंगा हो गया है. खराब मौसम और भारी बारिश के चलते सब्जियों का सप्लाई प्रभावित हुआ है और सब्जियों की उपज खराब हो रही है. जिसकी वजह से सब्जियों के दाम बढ़ रहे हैं. रीटेल और होलसेल दोनों ही जगह सब्जियां महंगी हो गई हैं.

पटना के थोक बाजार में टमाटर 40 रुपए किलो मिल रहा है, प्याज 52 रुपये किलो. वहीं, बैगन 50 रुपये किलो, मूली 40 रुपये किलो, परवल 50 रुपये किलो, भिंडी 50 रुपये किलो, आलू 30 रुपये किलो, खीरा 30 रुपये किलो मिल रहा है. वहीं, खुदरा बाजार में सब्जियां थोक बाजार से 10 रुपये ज्यादा कीमत पर ही मिल रही हैं.

आमलोगों की माने तो सब्जियों के रेट ने उनके घर का बजट बिगाड़ दिया है. फिलहाल त्योहारों के समय में सब्जियों के बढ़ते दाम लोगों के लिए मुश्किल खड़ी कर रहे हैं. ऐसे में फेस्टिवल सीज़न के दौरान लोगों का बजट बिगड़ना तय है.
Saloni Srivastava, News Desk